आज है वर्ल्ड एड्स डे, जानिए AIDS और HIV में क्या अंतर होता है? क्या है इस लाइलाज बीमारी से बचने का उपाए?

1 दिसंबर को हर साल विश्वभर में एड्स दिवस(World AIDS Day) मनाया जाता है। एड्स एक लाइलाज बीमारी है। इस बीमारी का अभी तक कोई इलाज नहीं मिल पाया है। जागरूकता और बचाव ही इसका एकमात्र इलाज है। इसलिए लोगों को इस एड्स महामारी के प्रति जागरूकता बढाना, और इस बीमारी से जिसकी मौत हो चुकी है उनके प्रति  शोक मनाना इस बीमारी का मुख्य उद्देश्य है। इस दिन सरकार और स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े लोग, ग़ैर सरकारी संगठन दुनिया भर में एड्स की रोकथाम और नियंत्रण के लिए चर्चा करते हैं और इस बीमारी की रोकथाम के लिए विभिन्न योजनाएं बनाते हैं।   

एड्स का पूरा नाम ‘एक्वायर्ड इम्यूलनो डेफिसिएंशी सिंड्रोम’ (acquired immune deficiency syndrome) है और यह एक तरह का विषाणु है, जिसका नाम HIV (Human immunodeficiency virus) है। यह वायरस सीधे मानव की इम्यून सिस्टम की टी सेल्स पर घातक हमला करता है। इस वायरस के संक्रमण आने के बाद मानव का शरीर सामान्य बीमारियों से लड़ने में असक्षम हो जाता है।

एड्स और एचआईवी में क्या अंतर होता है?

एचआईवी एक तरह का वायरस होता है। यह वायरस मानव शरीर की जद में आ जाने के बाद सीधे इम्यून सिस्टम की टी सेल्स पर हमला करता है।  जबकि एड्स (Acquired Immunodeficiency Syndrome) एक मेडिकल सिंड्रोम है। एचआईवी संक्रमण होने के बाद सिंड्रोम बनता है। एचआईवी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है, लेकिन एड्स एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नहीं फैलता है।

किसको हो सकता है एचआईवी? 

इस बीमारी की शुरूआती चरण में इस बीमारी को सिर्फ बच्चों और युवाओं से ही जोड़कर देखा जा रहा था लेकिन बाद में पता चला कि एचआईवी संक्रमण किसी भी उम्र के व्यक्ति को अपने जद में ले सकता है।

कैसे फैलता है एचआईवी?
एचआईवी संक्रमण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में कई तरह से फैल सकता है।  जैसे शरीर में खून चढ़ाने, सं‍क्रमित हुई सुई के प्रयोग और असुरक्षित तरीके से यौन संबंध बनाने से ये वायरस फैल सकता है।

एचआईवी से कैसे बचें?

जागरूकता और बचाव ही एचआईवी से बचना का एकमात्र जरूरी तरीका है। इसके बचने के लिए हमेशा नई सीरिंज का ही प्रयोग करें। सुरक्षात्मक तरीके से यौन संबंध बनाएं। इसके साथ ही सेविंग कराते समय हमेशा ध्यान रखें कि उपयोग किए जाने वाला ब्लेड संक्रमित ना हो।

ये है 2020 वर्ल्ड एड्स डे की थीम

Hiv.org की ऑफिशियल वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार, विश्व एड्स दिवस-2020 के लिए इस वर्ष की थीम ‘एंडिंग द एचआईवी यानि एड्स महामारी: लचीलापन और प्रभाव रखा गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eight + 11 =

Back to top button