36 C
Lucknow
Wednesday, April 24, 2024

हार्ट अटैक से भी ज्यादा जानलेवा है कार्डियक अरेस्ट, जानें लक्षण व बचाव के उपाय

Print Friendly, PDF & Email

हेल्थ डेस्क। दो दिन पहले मशहूर अभिनेता ऋतुराज सिंह (Rituraj Singh) की मौत हो गई। उनकी मौत की जो वजह बताई गई वो थी कार्डियक अरेस्ट (Cardiac arrest)। कार्डियक अरेस्ट (Cardiac arrest) हृदय रोगों के कारण होने वाली मौत के प्रमुख कारकों में से एक है। इसे हार्ट अटैक (heart attack) से ज्यादा खतरनाक माना जाता है।

यह भी पढ़ें-टीवी अभिनेता ऋतुराज सिंह का हुआ निधन, कार्डियक अरेस्ट से गई जान

पिछले कुछ वर्षों में कार्डियक अरेस्ट (Cardiac arrest) और हार्ट अटैक के कारण बड़ी संख्या में लोगों की मौत हुई है। आंकड़ों से पता चलता है कि हर साल भारत में लगभग 5-6 लाख लोगों की सडेन कार्डियक डेथ (SCD) से मौत हो जाती है। 50 से कम आयु के लोगों में भी ये खतरा समय के साथ बढ़ता जा रहा है। कई कारक है जो इसके जोखिमों को बढ़ाने वाले हो सकते हैं, जिसको लेकर सभी लोगों को अलर्ट (alert) रहने की सलाह दी जाती है।

अनियमित हृदय गति (heart) के कारण हृदय की सभी गतिविधियों के अचानक रुक जाने से कार्डियक अरेस्ट (Cardiac arrest) हो सकता है। इसमें व्यक्ति अचानक बेहोश हो जाता है और अगर उसे तत्काल उपचार न मिले तो हृदय गति रुकने से मृत्यु भी हो सकती है। बात करें अगर इसके लक्षणों की तो कार्डियक अरेस्ट (Cardiac arrest) आने से पहले मरीज की दिल की धड़कन (heartbeat) अचानक से काफी तेज हो जाती है और उसे सांस लेने में परेशानी आना शुरू हो जाती है। पल्स और ब्लड (Blood pressure) प्रेशर रूक जाता है। दिमाग और शरीर के बाकी हिस्सों तक भी खून नहीं पहुंच पाता। शरीर एकदम से ठंडा पड़ने लगता है और व्यक्ति अपना भार नहीं संभाल पाता और गिर जाता है।

कार्डियक अरेस्ट (Cardiac arrest) से बचने के लिए आपको फिट रहना बेहद जरूरी है। हेल्दी खाना खाना चाहिए, कम तेल, कम कोलेस्ट्रोल और कम कार्ब्स वाले खाने को ही डाइट में शामिल करना चाहिए। कार्डियक अरेस्ट (Cardiac arrest) से बचने के लिए मीठी चीज़ों (sweet) का सेवन नहीं करना चाहिए और मोटापे को भी कंट्रोल में रखना चाहिए। इसके लिए आप जिम, योगा और एक्सरसाइज (exercise) का सहारा ले सकते हैं। हेल्दी लाइफस्टाइल (healthy lifestyle) में चीजों का नियम और समय तय करना चाहिए। सुबह खाने से लेकर रात को सोने से समय तक के शेड्यूल को हमें तय करना चाहिए। शराब और सिगरेट व अन्य किसी धूम्रपान या मदिरापान जैसे नशे करने से बचना चाहिए, इससे आपको हार्ट संबंधी (heart problems) परेशानी हो सकती है।

Tag: #nextindiatimes #Cardiacarrest #heartattack

RELATED ARTICLE