कारोबारी सत्रों की तुलना में रुपये की हालत में सुधार

रुपये में उतार-चढ़ाव का दौर जारी है। मंगलवार को रुपया शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 12 पैसे मजबूत हुआ। ट्रेजरी रैली के रूप में भारतीय रुपया 1 महीने के उच्च स्तर पर पहुंच गया है। वहीं, डॉलर पर मंदी की आशंका जताई जा रही है। विदेशी पूंजी प्रवाह और विदेशों में प्रमुख प्रतिस्पर्धियों के मुकाबले कमजोर ग्रीनबैक से मंगलवार को शुरुआती कारोबार में रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 12 पैसे बढ़कर 78.94 पर पहुंच गया। डीलरों ने कहा कि कच्चे तेल की कीमतों में नरमी ने घरेलू विदेशी मुद्रा बाजार की धारणा को मजबूत किया।

12 पैसे की वृद्धि दर्ज की

मंगलवार को इंटरबैंक विदेशी मुद्रा में रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 78.96 पर तेजी से खुला और शुरुआती कारोबार में 78.94 पर बोली लगाने के लिए और पिछले बंद के मुकाबले 12 पैसे की वृद्धि दर्ज की। पिछले सत्र में रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 79.06 पर बंद हुआ था। वहीं, छह मुद्राओं की बास्केट के मुकाबले ग्रीनबैक की ताकत का अनुमान लगाने वाला डॉलर इंडेक्स 0.22 प्रतिशत गिरकर 105.21 पर आ गया।

घरेलू इक्विटी बाजार में शुरुआती कारोबार में गिरावट

वैश्विक तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड वायदा 1.05 प्रतिशत गिरकर 98.98 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। हालांकि, घरेलू इक्विटी बाजार में शुरुआती कारोबार में गिरावट देखी गई। 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 88.55 अंक या 0.15 प्रतिशत की गिरावट के साथ 58,026.95 पर कारोबार कर रहा था, जबकि व्यापक एनएसई निफ्टी 35.65 अंक या 0.21 प्रतिशत गिरकर 17,304.40 पर बंद हुआ। वहीं, विदेशी संस्थागत निवेशक सोमवार को पूंजी बाजार में शुद्ध खरीदार थे, क्योंकि एक्सचेंज के आंकड़ों के अनुसार, 2,320.61 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

fourteen + fifteen =

Back to top button