खेल

  • Photo of ICC ने जारी की टेस्ट रैंकिंग, रविंद्र जडेजा बने दुनिया के नंबर वन ऑलराउंडर

    ICC ने जारी की टेस्ट रैंकिंग, रविंद्र जडेजा बने दुनिया के नंबर वन ऑलराउंडर

    इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ने आज टेस्ट की ताजा रैंकिंग जारी की है। आईसीसी ने जो टेस्ट रैंकिंग जारी की उसमें इंडियन…

    Read More »
  • Photo of लेखक की कलम से…टोक्यो ओलंपिक की तैयारियों में नहीं छोड़ी गई कोई कसर- पुलेला गोपीचंद

    लेखक की कलम से…टोक्यो ओलंपिक की तैयारियों में नहीं छोड़ी गई कोई कसर- पुलेला गोपीचंद

    “भारतीय एथलीटों के आत्मविश्वास का तेजी से बढ़ना स्वाभाविक है क्योंकि वे अगले महीने टोक्यो में शुरू होने वाले ओलंपिक खेलों के…

    Read More »
  • Photo of नहीं रहे फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह, कोरोना से संक्रमित होने पर बिगड़ी थी तबीयत

    नहीं रहे फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह, कोरोना से संक्रमित होने पर बिगड़ी थी तबीयत

    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महान एथलीट मिल्खा सिंह जी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। पीएम मोदी ने…

    Read More »
  • Photo of ओलंपिक के एथलीटों के प्रति तत्परता दर्शाती है ‘एथलीट फर्स्ट’ की प्रतिबद्धता

    ओलंपिक के एथलीटों के प्रति तत्परता दर्शाती है ‘एथलीट फर्स्ट’ की प्रतिबद्धता

    करीब एक महीने पहले विनेश फोगट असमंजस में थीं। भारत की प्रसिद्ध पहलवान बुल्गारिया स्थित अधिक ऊंचाई वाले प्रशिक्षण शिविर…

    Read More »
  • Photo of राहुल द्रविड़ या उनके पिता जिनकी सलाह का पालन करेंगे शुभमन गिल; जानिए वह क्या कहते हैं

    राहुल द्रविड़ या उनके पिता जिनकी सलाह का पालन करेंगे शुभमन गिल; जानिए वह क्या कहते हैं

    Image By Google भारतीय बल्लेबाजी के उभरते सितारे, शुभमन गिल ने हाल ही में अपने पूर्व कोच राहुल द्रविड़ की…

    Read More »
  • Photo of टोक्यो-2020 ओलंपिक खेलों के लिए भारतीय टीम की आधिकारिक किट का अनावरण

    टोक्यो-2020 ओलंपिक खेलों के लिए भारतीय टीम की आधिकारिक किट का अनावरण

    टोक्यो 2020 ओलंपिक खेलों के शुरू होने में अब केवल 50 दिन बचे हैं, इसी के साथ भारतीय ओलंपिक संघ…

    Read More »
  • Photo of नई योजना, 7 राज्यों में 143 ‘खेलो इंडिया केंद्र’ खुलेंगे, 14 करोड़ से ज्यादा का होगा खर्च

    नई योजना, 7 राज्यों में 143 ‘खेलो इंडिया केंद्र’ खुलेंगे, 14 करोड़ से ज्यादा का होगा खर्च

    खेल मंत्रालय ने 14.30 करोड़ रुपये के कुल बजट अनुमान के साथ 7 राज्यों में कुल 143 खेलो इंडिया केंद्र समर्पित किए हैं। इन केंद्रों में एक-एक विशेष खेल का प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। इन राज्यों में महाराष्ट्र, मिजोरम, गोवा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर शामिल हैं। राज्यों के अनुसार विभाजन  महाराष्ट्र – 30 जिलों में 3.60 करोड़ रुपये के बजट अनुमान के साथ 36 खेलो इंडिया केंद्रों की शुरुआत करना। मिजोरम – कोलासिब जिले में 20 लाख रुपये के बजट अनुमान के साथ 2 खेलो इंडिया केंद्रों का शुभारम्भ। अरुणाचल प्रदेश- 26 जिलों में 4.12 करोड़ रुपये के बजट अनुमान के साथ 52 खेलो इंडिया केंद्रों को खोलना। मध्य प्रदेश – 40 लाख रुपये के बजट अनुमान के साथ 4 खेलो इंडिया केंद्रों को शुरू करना। कर्नाटक – 3.10 करोड़ रुपये के बजट अनुमान के साथ 31 खेलो इंडिया केंद्रों को खोलना। मणिपुर – 1.60 करोड़ रुपये के बजट अनुमान के साथ 16 खेलो इंडिया केंद्र  शुरू करना। । गोवा – 20 लाख रुपये के बजट अनुमान के साथ 2 खेलो इंडिया केंद्र खोलना। खेल मंत्रालय द्वारा देश भर में जमीनी स्तर के खेल बुनियादी ढांचे की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकारों के साथ साझेदारी में खेलो इंडिया केंद्र शुरू किए गए हैं। इस निर्णय के बारे में केंद्रीय युवा कार्यक्रम और खेल मंत्री श्री किरेन रिजिजू ने कहा, “भारत को 2028 में होने वाले ओलंपिक खेलों में शीर्ष 10 देशों में शामिल करने का हमारा प्रयास है। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए हमें कम उम्र से ही बड़ी संख्या में प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की पहचान करने और उनको प्रशिक्षित करने की आवश्यकता है। जिला स्तरीय खेलो इंडिया केंद्रों में अच्छे प्रशिक्षक और उपकरण सुविधाओं की उपलब्धता के साथ, मुझे विश्वास है कि हम सही खेल के लिए और सही समय पर सही बच्चों को खोजने में सक्षम होंगे।”  खेल मंत्रालय ने जून 2020 में देश के प्रत्येक जिले में कम से कम एक खेलो इंडिया केंद्र के हिसाब से 4 साल की अवधि में 1,000 नए खेलो इंडिया केंद्र खोलने की योजना बनाई थी। जबकि इससे पहले कई राज्यों में 217 खेलो इंडिया केंद्र खोले गए थे, इससे पहले यह निर्णय लिया गया था कि उत्तर-पूर्वी राज्यों, जम्मू और कश्मीर, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, लक्षद्वीप और लद्दाख के जिलों के लिए अपवाद के रूप में प्रत्येक जिले में 2 खेलो इंडिया केंद्र होंगे। संबंधित राज्य सरकारों को अब इन सभी केंद्रों के लिए पूर्व चैंपियन एथलीटों को नियुक्त करना होगा। जमीनी स्तर पर देश में खेल बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए सरकार के दृष्टिकोण के हिस्से के रूप में, एक कम लागत वाला, प्रभावी खेल प्रशिक्षण ढांचा तैयार किया गया है, जिसमें पूर्व चैंपियन एथलीट युवाओं के लिए प्रशिक्षक और सलाहकार बनेंगे। ये प्रशिक्षक स्वायत्त रूप से खेल का प्रशिक्षण प्रदान कर रहे हैं और अपना जीवन यापन कर रहे हैं। वित्तीय सहायता का उपयोग प्रशिक्षक के रूप में पूर्व चैंपियन एथलीटों के पारिश्रमिक, सहयोगी स्टाफ, उपकरणों की खरीद, खेल किट, उपभोग्य सामग्रियों, प्रतियोगिता और आयोजनों में भागीदारी के लिए किया जाएगा।  

    Read More »
  • Photo of 13,000 एथलीटों, प्रशिक्षकों और सहायक कर्मचारियों के लिए चिकित्सा और दुर्घटना बीमा योजना, पढ़िए पूरी खबर

    13,000 एथलीटों, प्रशिक्षकों और सहायक कर्मचारियों के लिए चिकित्सा और दुर्घटना बीमा योजना, पढ़िए पूरी खबर

    भारतीय खेल प्राधिकरण 13,000 से अधिक एथलीटों, प्रशिक्षकों और सहायक कर्मचारियों को इस वर्ष से चिकित्सा और दुर्घटना बीमा कवर प्रदान…

    Read More »
  • Photo of ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाली भारत की पहली तलवारबाज़ भवानी देवी से जुड़ी बड़ी खबर

    ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाली भारत की पहली तलवारबाज़ भवानी देवी से जुड़ी बड़ी खबर

    ओलंपिक खेलों के लिए क्वालिफाई करने वाली पहली भारतीय तलवारबाज़ बनकर इतिहास रचने वाली तलवारबाज़ भवानी देवी ने कहा कि वह टोक्यो ओलंपिक-2020 में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देने के लिए उत्सुक हैं। उन्होंने कहा, “यह पहली बार होगा जब हमारे देश के ज्यादातर लोग तलवारबाजी देखेंगे और मुझे खेलते हुए देखेंगे, इसलिए मैं उनके सामने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दूंगी।” इस वर्ष मार्च में बुडापेस्ट विश्व कप के बाद समायोजित आधिकारिक रैंकिंग (एओआर) पद्धति के माध्यम से कोटा हासिल करने के बाद, चेन्नई की 27 वर्षीय भवानी ने एक लंबी यात्रा के बाद एक बड़ी सफलता हासिल की है। उसने बांस के डंडे से प्रशिक्षण लेकर अपने करियर की शुरुआत की थी। ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली पहली तलवारबाज़ बनने पर उत्साह का भाव भवानी ने नहीं खोया है। मौजूदा कोविड-19 स्थिति को देखते हुए और टूर्नामेंट रद्द होने की संभावना के साथ, भवानी देवी को ओलंपिक खेलों के लिए रवाना होने से पहले इटली में प्रशिक्षण जारी रखने की उम्मीद है।अप्रैल में लक्ष्य ओलंपिक पोडियम योजना में शामिल होने वाली, भवानी अब मई के महीने में तीन-सप्ताह के शिविर में भाग ले रही हैं, जहां वह इटली की राष्ट्रीय टीम के साथ प्रशिक्षण ले रही हैं।  भवानी देवी ने कहा कि जब ओलंपिक के लिए योग्यता प्राप्त करना दूर का सपना लग रहा था, तब लोगो ने उससे तलवारबाज़ी जारी रखने से मना कर दिया था, लेकिन उसके माता-पिता ने उसे आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होने कहा, “जब मेरी रैंकिंग योग्यता के करीब नहीं थी, तो लोग पूछते थे कि वह इतना समय क्यों लगा रही है खेल में। वह एक महिला है, वह शिक्षा प्राप्त कर सकती है और कुछ नौकरी पाने की सोच सकती है। मुझे बाहर से प्रोत्साहन नहीं मिला, लेकिन मेरी माँ और पिता ने मुझे चिंता न करने के लिए कहा।” युवा कार्यक्रम और खेल मंत्रालय ने 2019-20 में 16.94 करोड़ रुपये के बजट के साथ वार्षिक कैलेंडर ऑफ़ ट्रेनिंग एंड कॉम्पिटिशन (एसीटीसी) के माध्यम से भारतीय तलवारबाज़ी संघ का समर्थन किया है।लक्ष्य ओलंपिक पोडियम योजना-टॉप्स में शामिल होने से पहले, भवानी देवी को एसीटीसी के तहत 20 लाख रुपये का विशेष अनुदान मिला। अब, ओलंपिक तक उसके कोचिंग शुल्क और विशेष उपकरणों की खरीद के लिए, मिशन ओलंपिक सेल द्वारा 19.28 लाख रुपये मंजूर किए गए हैं।

    Read More »
  • Photo of लॉन्च हुआ Tecno Spark 7 Pro स्मार्टफोन, जाने कीमत और खासियत…

    लॉन्च हुआ Tecno Spark 7 Pro स्मार्टफोन, जाने कीमत और खासियत…

    स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Tecno ने अपना शानदार डिवाइस Tecno Spark 7 Pro ग्लोबली लॉन्च कर दिया है। यह स्मार्टफोन Alps…

    Read More »
Back to top button