17 C
Lucknow
Sunday, March 3, 2024

एक फरवरी को पेश होगा अंतरिम बजट, इन मुद्दों पर होगा सरकार का फोकस

Print Friendly, PDF & Email

नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) एक फरवरी 2024 को अंतरिम बजट पेश करने वाली है। इस बजट (Budget) की तैयारी करीब पूरी हो चुकी है। हर बार की तरह इस बार का बजट (Budget) भी बेहद खास होने वाला है। वहीं इस बार के बजट (Budget) से आम जनता को भी काफी ज्यादा उम्मीदे हैं।

यह भी पढ़ें-नौसेना का रेस्क्यू ऑपरेशन कामयाब, सोमाली डाकुओं से मछुआरों को बचाया

हालांकि अब ये देखना है कि इस बार वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) आम जनता के लिए क्या लेकर आने वाली हैं। बता दें कि अंतरिम बजट से एक दिन पहले वित्त मंत्री आर्थिक सर्वेक्षण (Economic Survey) सदन के पटल पर रखेंगी। लोकसभा चुनाव से पहले संसद का बजट (Budget) सत्र 31 जनवरी को शुरू होकर 9 फरवरी तक चलेगा।

केंद्रीय बजट (Budget) देश का सालाना वित्तीय लेखा-जोखा होता है। यूं कहें कि बजट किसी खास वित्त वर्ष के लिए सरकार की कमाई और खर्च का अनुमानित विवरण होता है। बजट (Budget) के जरिए सरकार यह तय करती है कि आगामी वित्त वर्ष में वह अपनी कमाई की तुलना में किस हद तक खर्च कर सकती है। सरकार को हर वित्त वर्ष की शुरुआत में अपना बजट (Budget) पेश करना होता है। भारत में वित्त वर्ष की शुरुआत एक अप्रैल से 31 मार्च तक होता है।

Interim Budget 2024: एक फरवरी को पेश होगा अंतरिम बजट, आम जनता को वित्त  मंत्री से उम्मीदें

अंतरिम बजट सरकार को आम चुनावों (elections) का फैसला होने और नई सरकार बनने के बाद पूर्ण बजट (Budget) पेश होने तक देश को चलाने के लिए धन मुहैया कराता है। अंतरिम बजट शब्द आधिकारिक नहीं है। आधिकारिक तौर पर अंतरिम बजट को वोट ऑन अकाउंट कहा जाता है। चुनाव (elections) के बाद नई सरकार वित्त वर्ष 2024-25 को अपना पूर्ण बजट (Budget) पेश करेगी। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) एक फरवरी, 2024 को लगातार अपना छठा बजट संसद में पेश करेंगी। इसके साथ ही वह देश की दूसरी वित्त मंत्री होंगी, जो लगातार 5 पूर्ण बजट और एक अंतरिम बजट (Budget) पेश करेंगी।

यह भी पढ़ें-ED कर रही लालू यादव से पूछताछ, दफ्तर के बाहर जुटे RJD कार्यकर्ता

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने बीते दिनों दिल्ली यूनिवर्सिटी (Delhi University) के हिंदू कॉलेज में छात्रों के साथ एक बातचीत में संकेत दिए है कि इस बजट में किसानों का विशेष ध्यान रखा जाएगा। सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने कहा कि मोदी सरकार लोगों के बीच जाति या धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं करती है। केंद्र सरकार की योजनाओं का हर किसी को लाभ मिल रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो अंतरिम बजट (Budget) में वित्तमंत्री प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की किस्त बढ़ाकर 9,000 रुपये कर सकती हैं।

Tag: #nextindiatimes #NirmalaSitharaman #Budget

RELATED ARTICLE

close button