24 C
Lucknow
Thursday, February 22, 2024

भड़काऊ भाषण पर मुंबई से गिरफ्तार कर गुजरात ले गई पुलिस, जानें कौंन है ये मौलाना

Print Friendly, PDF & Email

मुंबई। गुजरात पुलिस के आतंकवाद निरोधी दस्ते (ATS) ने भड़काऊ भाषण देने के आरोप में मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना मुफ्ती सलमान अज़हरी (Salman Azhari) को मुंबई के घाटकोपर इलाके से गिरफ्तार कर लिया। सुरक्षा कारणों से अज़हरी (Salman Azhari) को घाटकोपर पुलिस स्टेशन में रखा गया है।

यह भी पढ़ें-केजरीवाल के बाद आतिशी पर भी कसा शिकंजा, घर पहुंची क्राइम ब्रांच की टीम

फिलहाल उसे गुजरात (Gujarat) ले जाने की कानूनी प्रक्रिया पूरी की जा रही है। गुजरात एटीएस (ATS) के एक अधिकारी के मुताबिक सलमान (Salman Azhari) पर 31 जनवरी को गुजरात (Gujarat) के जूनागढ़ में भड़काऊ भाषण देने का आरोप है। जब इस भाषण का वीडियो वायरल हुआ तो मामला दर्ज किया गया और कार्यक्रम के आयोजक मलिक और हबीब को गिरफ्तार कर लिया गया।

एक स्थानीय पुलिस अधिकारी के मुताबिक, रविवार को गुजरात एटीएस (ATS) की टीम सलमान अज़हरी (Salman Azhari) को गिरफ्तार करने के लिए घाटकोपर स्थित उसके घर पहुंची थी। घर के बाहर बड़ी संख्या में उसके समर्थक जमा हो गए। गुजरात एटीएस ने समझदारी से सलमान अज़हरी (Salman Azhari) को हिरासत में लिया। उसे घाटकोपर पुलिस स्टेशन लाया गया और मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस के मुताबिक अज़हरी (Salman Azhari) के समर्थक अभी भी घाटकोपर पुलिस स्टेशन के आसपास मौजूद हैं। सभी को समझाने का प्रयास किया जा रहा है। लोगों को चेतावनी दी गई है कि वे कानून को अपने हाथ में लेने की कोशिश न करें।

मौलाना मुफ़्ती सलमान अज़हरी (Salman Azhari) खुद को इस्लामिक रिसर्च स्कॉलर बताता है। वह जामिया रियाज़ुल जन्नत, अल-अमन एजुकेशन एंड वेलफेयर ट्रस्ट और दारुल अमन का संस्थापक है। उसने काहिरा के अल अज़हर विश्वविद्यालय में अध्ययन किया। वह अपने भड़काऊ भाषणों के लिए कई बार सुर्खियों में रह चुका है। उसने कई बार इस्लामिक छात्रों के बीच उपदेश दिया है।

जूनागढ़ में मौलाना मुफ्ती सलमान अज़हरी (Salman Azhari) ने 31 जनवरी की रात ‘बी’ डिवीजन पुलिस स्टेशन (Police Station) के पास खुले मैदान में आयोजित एक कार्यक्रम में भड़काऊ भाषण दिया था। अज़हरी और स्थानीय आयोजकों मोहम्मद यूसुफ मलिक और अजीम हबीब ओडेद्रा के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 153बी और 505 (2) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी। जूनागढ़ में मौलाना मुफ्ती सलमान अज़हरी (Salman Azhari) ने कहा था कि कर्बला की आखिरी लड़ाई अभी बाकी है। कुछ देर खामोशी है, फिर शोर होगा। आज वक्त है, हमारी बारी आयेगी…! इस दौरान उसने कई आपत्तिजनक शब्दों का भी इस्तेमाल किया।

Tag: #nextindiatimes #SalmanAzhari #police #speech

RELATED ARTICLE

close button