24 C
Lucknow
Saturday, February 24, 2024

ED की रेड पर भड़कीं आतिशी, बोलीं-‘हमें चुप कराने के लिए हो रही छापेमारी’

Print Friendly, PDF & Email

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार में कैबिनेट मंत्री आतिशी (Atishi) ने मंगलवार को प्रेस वार्ता कर आबकारी नीति मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) के एक्शन को लेकर कई सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि ईडी (ED) के पास कोई पुख्ता सबूत नहीं है। आम आदमी पार्टी को चुप कराने के लिए ईडी (ED) हमारे नेताओं के घर पर छापे मार रही है, लेकिन हम चुप बैठने वाले नहीं हैं।

यह भी पढ़ें-CM केजरीवाल ने बोला हमला, कहा-‘भाजपा में नहीं जाऊंगा,मैं झुकने वाला नहीं’

आतिशी (Atishi) ने कहा कि ईडी (ED) को कथित आबकारी घोटाले में दो साल की की जांच में अभी तक कुछ भी साक्ष्य नहीं मिले हैं। यह पूरा का पूरा केस झूठ की नीव पर है, पूरा का पूरा फर्जीवाड़ा है। यह केस केवल गवाही (testimony) पर बनाया गया है। गवाही दबाव बनाकर दिलवाई गई है, लोगों को धमकाकर डराकर गलत बयान दिलवाए गए। कुछ लोग सामने आए हैं जिन्होंने कहा कि उन्हें डराया गया है और धमकाया गया है।

आतिशी ने ईडी (ED) को चुनौती दी है कि ईडी ने अभी तक जो भी जांच की है, बयान लिए हैं, उसकी रिकॉर्डिंग सामने लाई जाए। दूध का दूध पानी का पानी सामने आ जाएगा। उन्होंने कहा कि आज मैं ईडी (ED) के घोटाले पर पर्दा उठाने वाली थी, उससे ईडी डरी हुई थी और पता कर रही थी कि वह क्या पर्दा उठाने वाली हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि इससे घबराई ईडी (ED) ने आज आम आदमी पार्टी (any Aam Aadmi Party) के कई लोगों के यहा आज छापेमारी की है। मुख्यमंत्री के पीए के यहां छापेमारी की जा रही है। पार्टी के कोषाध्यक्ष के पीए के यहां तक छापेमारी की जा रही है।

उन्होंने दावा किया कि ईडी (ED) की छापेमारी में एक रुपया भी बरामद नहीं हुआ है। कुछ दिन पहले एक आरोपी ने सीसीटीवी (CCTV) फुटेज मांगी कि उन्होंने जो बयान दिया था कि जो बयान दिया था वह सभी के सामने लाया जाए। आरोपी ने कहा कि उन्होंने जो बयान दिया था वह जमा कराए गए उनके बयान से अलग है। मगर कोर्ट के आदेश पर जो सीसीटीवी (CCTV) फुटेज जमा कराई गई, उसमें आवाज नहीं थी। उन्होंने सवाल उठाया कि ऑडियो रिकॉर्डिंग (audio recording) डिलीट कर ईडी (ED) किसे बचाना चाहती है।

Tag: #nextindiatimes #ED #Atishi #AAP

RELATED ARTICLE

close button