31 C
Lucknow
Tuesday, July 23, 2024

चंपई सरकार का फ्लोर टेस्ट, ED-BJP पर फूटा हेमंत सोरेन का गुस्सा

Print Friendly, PDF & Email

झारखंड। झारखंड (Jharkhand) में चंपई सोरेन (Champai Soren) सरकार ने विश्वास मत जीत लिया। 5 फरवरी को करीब 2 बजे हुई वोटिंग में पक्ष में 47 तो विपक्ष में 29 वोट पड़े। इससे पहले चंपई (Champai Soren) ने विश्वास मत का प्रस्ताव पेश किया था। चर्चा के लिए एक घंटे 10 मिनट का समय निर्धारित किया गया था।

यह भी पढ़ें-चंपई सरकार की आज अग्निपरीक्षा, विधानसभा में साबित करना होगा बहुमत

इस दौरान झारखंड के सीएम चंपई सोरेन (Champai Soren) ने सदन को संबोधित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हेमंत बाबू (Hemant Soren) हैं तो हिम्मत है। वहीं, झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने आज सीएम चंपई सोरेन (Champai Soren) की सरकार के फ्लोर टेस्ट से पहले राज्य विधानसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने अपनी गिरफ्तारी का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि 31 जनवरी की रात को देश में पहली बार किसी सीएम को गिरफ्तार किया गया और मेरा मानना है कि इस घटना में राजभवन भी शामिल था।

पूर्व सीएम ने जांच एजेंसी पर निशाना साधते हुए (Hemant Soren) ने कहा कि हमने साढ़े आठ एकड़ जमीन हड़पी। ईडी (ED) इसे साबित करे तो राजनीति से सन्यास ले लूंगा। यहां तक कि झारखंड छोड़ दूंगा। ईडी (ED) कुछ दस्तावेज हासिल नहीं कर सकी तो अब मेरी पत्नी और बच्चों का खाता ढूंढने में लगी है। आदिवासियों (tribals) ने कभी सिर झुकाकर चलना नहीं सीखा लेकिन जब सरसों में ही भूत हो तो कोई क्या करेगा?

हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि बड़ी सुनियोजित तरीके से भाजपा उनके विरुद्ध षडयंत्र 2022 से ही रच रही थी। पकवान को सीधी आंच में पका रहे थे। बाद में अधूरे पके पकवान को ही अपने लिए परोस लिया और मुझे अपनी गिरफ्त में ले लिया। उन्होंने कहा कि आदिवासियों के विरुद्ध घृणा की ताकत भाजपा (BJP) को कहां से मिलती है, यह समझ से परे है। पहले भी झारखंड में आदिवासी (tribals) मुख्यमंत्री बने, लेकिन उन्हें कभी भी कार्यकाल पूरा नहीं करने दिया।

यह भी पढ़ें-दिल्ली में AAP ने खोला BJP के खिलाफ मोर्चा, हिरासत में लिए गए 25 कार्यकर्ता

इनके लोग करोड़ों डकार कर विदेश में बैठे हैं। उनका बाल बांका करने की ताकत इनके पास नहीं है। ये केवल आदिवासियों (tribals), दलितों और बेगुनाहों पर अत्याचार करते हैं। कहा कि इनके एक एक षडयंत्र का जवाब वक्त आने पर दूंगा। कानून में रहकर कैसे गैरकानूनी काम किया जाता है, यह कोई इनकी संस्थाओं से सीखे।

Tag: #nextindiatimes #tribles #ED #HemantSoren

RELATED ARTICLE