17 C
Lucknow
Sunday, March 3, 2024

किसान आंदोलन: दिल्ली की ओर बढ़े किसान, शंभू बॉर्डर पर पहुंचने लगे ट्रैक्टर

Print Friendly, PDF & Email

चंडीगढ़। देश भर की अलग-अलग किसान संगठनों (farmer organization) का प्रतिनिधित्व करने वाले किसान नेताओं (farmer leaders) और केंद्र सरकार के बीच सोमवार देर रात हुई बैठक मामलों को सुलझाने में विफल रही। इसके बाद किसानों (farmer) ने घोषणा की कि वे विरोध प्रदर्शन करने के लिए मंगलवार सुबह 10 बजे राष्ट्रीय राजधानी की ओर मार्च करने की अपनी योजना पर कायम हैं।

यह भी पढ़ें-दिल्ली कूच पर अड़े किसान, पंचकूला में धारा 144 लागू, 7 जिलों में इंटरनेट बंद

केंद्र सरकार के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने किया। इसमें कृषि मंत्री (Agriculture Minister) अर्जुन मुंडा शामिल थे, जबकि पंजाब के मंत्री कुलदीप धालीवाल और राज्य सरकार के अधिकारी भी मौजूद थे। सूत्रों के मुताबिक बातचीत थोड़ी आगे बढ़कर थम गई क्योंकि किसान (farmers) फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारंटी लेने पर अड़े हुए हैं। जबकि केंद्र ने पहले ही उन्हें आश्‍वासन दिया है कि उनकी कुछ मांगें पूरी की जाएंगी।

किसान (farmers) कुछ ही देर में हरियाणा में प्रवेश करेंगे। अंबाला से लगता पंजाब (punjab) का शंभू बॉर्डर (Shambhu border) पूरी तरह से सील है। शंभू टोल (Shambhu border) से 1 किलोमीटर पहले एक और नाका लगाया गया है जहां से आगे किसी को भी जाने की अनुमति नहीं है। मीडिया को भी यहीं रोका गया है।

किसान आंदोलन (farmers’ movement) के कारण भारी वाहन सोनीपत के बीसवा मील चौक से आगे केएमपी और केजीपी से दिल्ली (delhi) भेजे जा रहे हैं। वहीं उत्तर प्रदेश, दिल्ली (delhi) और राजस्थान जाने वाले रास्तों पर वाहनों को डायवर्ट करवाने के लिए पुलिस जवान तैनात हैं। कुंडली सिंघु बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस ने किसानों (farmers) को रोकने के लिए युद्ध स्तर पर बेरिकेडिंग की है।

Tag: #nextindiatimes #farmers #Shambhuborder

RELATED ARTICLE

close button