36 C
Lucknow
Wednesday, April 24, 2024

साइंस, आर्ट्स या कॉमर्स…11वीं में इस तरह करें स्ट्रीम का चुनाव, होगा फायदा

Print Friendly, PDF & Email

डेस्क। बोर्ड परीक्षाओं (board examinations) के खत्म होने के बाद अब 11वीं में दाखिलों का दौर शुरू हो चुका है। अब स्टूडेंट्स इसी चिंता में हैं कि उनके लिए बेस्ट करिअर ऑप्शन (career option) कौन सा होगा? इसके लिए कक्षा 11वीं से ही तैयारी करनी होगी, क्योंकि 10वीं तक तो छात्र बोर्ड के पाठ्यक्रम और राज्य की शिक्षा व्यवस्था के अनुसार निर्धारित विषयों (subjects) की ही पढ़ाई करते हैं।

यह भी पढ़ें-12वीं के बाद इन डिप्लोमा कोर्सेज से मिलेगी अच्छी जॉब और बढ़िया सैलरी

अधिकांश अभिभावकों और छात्रों में धारणा बनी हुई है कि इंजीनियरिंग (engineering) और मेडिकल एजुकेशन के लिए साइंस, बिजनेस के दृष्टिकोण से कॉमर्स और सरकारी नौकरी के लिए आर्ट्स subjects यानी कला संकाय की पढ़ाई करनी चाहिए। जबकि ऐसा नहीं है। सीबीएसई (CBSE) शिक्षा प्रणाली के जानकार और पूर्व प्राचार्य डॉ रंजीत सिंह के अनुसार, सामान्य तौर पर साइंस (Science), कॉमर्स और आर्ट्स में से क्या बेहतर है? इस सवाल से ज्यादा जरूरी और अहम ये है कि छात्र की रूचि किसमें है? क्या वह अपनी रूचि के अनुसार पढ़ाई कर पा रहा है अथवा नहीं?

राज्य बोर्ड (state board) के पाठ्यक्रमों के अनुसार, कक्षा 11वीं और 12वीं में छात्र किसी भी संकाय में पढ़ रहा हो तो उसे तीन विषय (subjects) वैकल्पिक और दो विषय अनिवार्य तौर पर पढ़ाए जाते हैं। डॉ रंजीत सिंह के अनुसार, हिंदी भाषी राज्यों में अनिवार्य विषयों (subjects) में एक हिंदी है तथा दूसरी अंग्रेजी भाषा है। जबकि तीन वैकल्पिक विषय, उस संकाय में उपलब्ध विषयों से हो सकते हैं, जो संबंधित स्कूल में पढ़ाए जा रहे हैं।

एआईसीटीई (AICTE) के नए नियमों के अनुसार इंजीनियरिंग (engineering) पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने के इच्छुक छात्र-छात्राओं को भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और गणित विषय की बाध्यता खत्म कर दी गई है। अब जीव विज्ञान, कंप्यूटर विज्ञान, इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी, तकनीकी व्यावसायिक विषय जैसे जैव प्रौद्योगिकी, कृषि, बिजनेस स्टडीज और अभियांत्रिकी आदि में से किन्हीं तीन विषयों (subjects) के साथ 12वीं कक्षा पास होनी चाहिए।

Tag: #nextindiatimes #subjects #board #examination

RELATED ARTICLE