17 C
Lucknow
Sunday, March 3, 2024

तेलंगाना में CM पद के लिए कांग्रेस में खींचतान, अध्यक्ष लगाएंगे अंतिम मुहर

Print Friendly, PDF & Email

हैदराबाद। तेलंगाना में कांग्रेस ने बीआरएस को हराकर पहली बार राज्य में जीत हासिल की है। चुनाव परिणाम आने के दो दिन बाद भी मुख्यमंत्री (CM) के नाम पर स्थिती साफ नहीं हुई है। तेलंगाना में मुख्यमंत्री को लेकर जिस नाम की सबसे ज्यादा चर्चा है वो प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रेवंत रेड्डी हैं।

यह भी पढ़ें- जानिए, आखिर किन मुद्दों की वजह से तीन राज्यों में डूब गई कांग्रेस की नैया

इस बीच कांग्रेस ने मुख्यमंत्री (CM) के नाम पर आम सहमति और सभी विधायकों की राय जानने के लिए कर्नाटक के उप मुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को पर्यवेक्षक बनाकर हैदराबाद भेजा है। कांग्रेस के जीते हुए सभी 64 विधायकों के बीच सीएम (CM) के चयन पर सहमति नहीं बन पाई है। हालांकि, मुख्यमंत्री के नाम पर अंतिम मुहर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे पर्यवेक्षकों की राय जानने के बाद ही करेंगे। सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस अध्यक्ष खरगे दिल्ली में पर्यवेक्षकों से चर्चा करने के बाद मंगलवार को मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा कर सकते हैं।

आपको बता दें परिणाम वाले दिन यानि 3 दिसंबर को तेलंगाना में बहुमत का आंकड़ा पार करने के बाद रेवंत रेड्डी ने राजभवन पहुंचकर सरकार बनाने का दावा पेश किया था। कांग्रेस पार्टी की तरफ से तेलंगाना में मुख्यमंत्री के साथ में एक डिप्टी सीएम और अन्य मंत्रियों के लिए शपथ लेने की बात की जा रही है।

CM के नाम पर सहमति को लेकर तेलंगाना कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के बीच मतभेद उभरकर सामने आ गए हैं। रिपोर्ट्स में बताया गया है कि विधायकों की बैठक में वरिष्ठ नेता मल्लू भट्टी विक्रमार्क, उत्तम कुमार रेड्डी, श्रीधर बाबू और कोमाटिरेड्डी बंधुओं ने सीएम के रूप में रेवंत रेड्डी के नाम का विरोध किया है।

Tag: #nextindiatimes #congress #CM #tengana

RELATED ARTICLE

close button