18 C
Lucknow
Wednesday, February 21, 2024

भारत की बड़ी जीत, कतर में सजा काट रहे 8 भारतीय पूर्व नौसैनिक लौटे घर

Print Friendly, PDF & Email

डेस्क। कतर (Qatar) ने 8 पूर्व भारतीय नौसैनिकों (Indian marines) को रिहा कर दिया है। इनमें से 7 सोमवार सुबह भारत लौट आए हैं। ये कतर (Qatar) में जासूसी के आरोप में उम्रकैद (life imprisonment) की सजा काट रहे थे। यहां तक कि इन्हें फांसी तक की सजा सुना दी गई थी।

यह भी पढ़ें-नौसेना का रेस्क्यू ऑपरेशन कामयाब, सोमाली डाकुओं से मछुआरों को बचाया

बता दें कतर (Qatar) की इंटेलिजेंस एजेंसी (Intelligence Agency) के स्टेट सिक्योरिटी ब्यूरो ने 30 अगस्त 2022 को 8 पूर्व नौसैनिकों को गिरफ्तार किया था। इसके बाद इस मामले में भारत सरकार ने हस्तक्षेप किया। दिसंबर 2023 में भारत के अनुरोध पर उनकी सजा को कतर (Qatar) के अमीर ने उम्रकैद (life imprisonment) में बदल दिया था और अब उन्हें आजाद कर दिया गया है। विदेश मंत्रालय ने 12 फरवरी की सुबह खुशखबरी देते हुए अपना बयान भी जारी किया है। विदेश मंत्रालय ने सोमवार को देर रात कहा- भारत सरकार कतर (Qatar) में गिरफ्तार किए गए दहरा ग्लोबल कंपनी के लिए काम करने वाले 8 भारतीयों की रिहाई का स्वागत करती है। हम इनकी घर वापसी के लिए कतर के फैसले की सराहना करते हैं।

भारतीय दूतावास (Indian Embassy) को सितंबर 2022 के मध्य में पहली बार भारतीय नौसैनिकों (Indian marines) की गिरफ्तारी के बारे में बताया गया था। इनकी पहचान कैप्टन नवतेज सिंह गिल, कैप्टन सौरभ वशिष्ठ, कमांडर पूर्णेंदु तिवारी, कैप्टन (Captain) बीरेंद्र कुमार वर्मा, कमांडर सुगुनाकर पकाला, कमांडर संजीव गुप्ता, कमांडर अमित नागपाल और नाविक रागेश के रूप में की गई।

30 सितंबर 2023 को इन्हें अपने परिवार के सदस्यों के साथ थोड़ी देर के लिए टेलीफोन पर बात करने की मंजूरी दी गई थी। पहली बार काउंसलर (Consular) एक्सेस 3 अक्टूबर 2023 को गिरफ्तारी के एक महीने बाद मिला। इस दौरान भारतीय दूतावास (Indian Embassy) के एक अधिकारी को इनसे मिलने दिया गया था। 3 दिसंबर 2023 को कतर (Qatar) में मौजूद भारत के ऐंबैस्डर निपुल ने आठों पूर्व नौसैनिकों से मुलाकात की थी।

Tag: #nextindiatimes #Qatar #indiannavy #ministry

RELATED ARTICLE

close button