24 C
Lucknow
Saturday, February 24, 2024

सिलक्यारा टनल के बाहर बनेगा बाबा बौखनाग का मंदिर, हुआ भूमिपूजन

Print Friendly, PDF & Email

उत्तरकाशी। सिलक्यारा सुरंग (Silkyara Tunnel) निर्माण करने वाली नवयुग इंजीनियरिंग कंपनी ने सोमवार को सिलक्यारा सुरंग (Silkyara Tunnel) के मुहाने के निकट बौखनाग देवता मंदिर (Boukhnag Temple) निर्माण (construction) के लिए भूमि पूजन किया। इस कार्यक्रम में नवयुग इंजीनियरिंग कंपनी के अधिकारी शामिल हुए।

यह भी पढ़ें-नहीं थम रहे स्वामी प्रसाद मौर्य के विवादित बोल, सपा ने किया किनारा

अभी सिलक्यारा पोलगांव बडकोट सुरंग में निर्माण (construction) कार्य रोक दिया गया है। सिलक्यारा सुरंग (Silkyara Tunnel) में फंसे श्रमिकों को सकुशल निकाले जाने का कार्य पूरा होने पर 1 दिसंबर को नवयुग इंजीनियरिंग कंपनी के अधिकारी और कर्मचारी बौखनाग टॉप स्थित मंदिर (Boukhnag Temple) में पहुंचे। जहां उन्होंने सिलक्यारा सुरंग के पास भव्य मंदिर बनाए जाने का भी आश्वासन दिया।

Baba Baukhnag Rol: सिलक्यारा सुरंग हादसे के शिकार मजदूरों के बचाव में बाबा  बौखनाग की भूमिका अहम - Hindi Samachar : Latest News in Hindi, Breaking News  in Hindi

गौरतलब है कि सिलक्यारा सुरंग (Silkyara Tunnel) में जब श्रमिक फंसे तो तब स्थानीय निवासियों ने नवयुग इंजीनियरिंग कंपनी से स्थानीय देवता बौखनाग से कामना करने को कहा है। कंपनी के अधिकारी बौखनाग देवता के पुजारी के पास भाटियागांव भी पहुंचे। इसके साथ ही सुरंग (Silkyara Tunnel) के पास एक छोटा मंदिर भी कंपनी ने स्थापित किया। इस मंदिर में सुबह और शाम के समय नियमित पूजा अर्चना चल रही है।

नवयुग इंजीनियरिंग कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर राजेश पंवार ने बताया कि सिलक्यारा सुरंग (Silkyara Tunnel) में खोज बचाव के सफल होने की बौखनाग देवता से कामना की गई थी। कंपनी की ओर से मंदिर निर्माण का वचन दिया गया था। इसलिए सोमवार को सिलक्यारा सुरंग (Silkyara Tunnel) के पास मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया गया। भूमि पूजन का दिन पहले से ही तय था।

Tag: #nextindiatimes #SilkyaraTunnel #BoukhnagTemple

RELATED ARTICLE

close button