22 C
Lucknow
Sunday, March 3, 2024

आंध्र प्रदेश के CM की बहन ने थामा कांग्रेस का हाथ, पार्टी का भी किया विलय

Print Friendly, PDF & Email

नई दिल्ली। आगामी लोकसभा चुनाव से पहले वाइएसआर तेलंगाना पार्टी (YSR Telangana Party) की संस्थापक ने कांग्रेस (Congress) में अपनी पार्टी का विलय कर दिया है। दिल्ली में कांग्रेस (Congress) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और कांग्रेस नेता राहुल गांधी की मौजूदगी में वाईएस शर्मिला कांग्रेस में शामिल हुईं।

यह भी पढ़ें-भगवान राम पर विवादित टिप्पणी कर बुरे फंसे जितेंद्र आव्हाड, दर्ज हुई FIR

वाईएस शर्मिला आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी की छोटी बहन हैं और अविभाजित आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत वाई एस राजशेखर रेड्डी की बेटी हैं। कांग्रेस (Congress) में शामिल होने पर खुशी जताते हुए उन्होंने कहा,”आज मैं YSR तेलंगाना (Telangana) पार्टी का कांग्रेस पार्टी में विलय करते हुए बहुत खुश हूं। मुझे बहुत खुशी हो रही है कि वाईआरएस तेलंगाना (YRS) पार्टी आज से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (Congress) का हिस्सा बनने जा रही है। कांग्रेस पार्टी अभी भी हमारे देश की सबसे बड़ी धर्मनिरपेक्ष पार्टी है।”

शर्मिला ने की डील, जल्द ही पार्टी का कांग्रेस में होगा विलय- द न्यू इंडियन  एक्सप्रेस

बता दें कि शर्मिला ने इससे पहले बुधवार को इडुपुलापाया की अपनी यात्रा के दौरान कांग्रेस (Congress) में शामिल होने की इच्छा की घोषणा की थी। उन्होंने तेलंगाना (Telangana) विधानसभा चुनाव से पहले कहा था,”मैं कांग्रेस पार्टी को समर्थन दे रही हूं क्योंकि कांग्रेस (Congress) पार्टी के पास तेलंगाना विधानसभा चुनाव में जीतने की संभावना है। केसीआर ने अपने 9 साल के कार्यकाल में लोगों से किए गए किसी भी वादे को पूरा नहीं किया है। और यही एकमात्र कारण है कि मैं मैं नहीं चाहती कि केसीआर सत्ता में आए।

हाल ही में हुए तेलंगाना (Telangana) विधानसभा चुनाव में कांग्रेस (Congress) ने 119 में से 64 सीटें जीतकर पहली बार पूर्ण बहुमत हासिल किया है। भारत राष्ट्र समिति ने 38 सीटें जीतीं। पार्टी सूत्रों के अनुसार, शर्मिला को लोकसभा चुनाव से पहले और आंध्र प्रदेश राज्य विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस (Congress) में एक महत्वपूर्ण पद दिए जाने की संभावना है।

Tag: #nextindiatimes #Congress #YSR #telangana

 

 

RELATED ARTICLE

close button