36 C
Lucknow
Wednesday, April 24, 2024

सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार तो बाबा रामदेव ने मांगी माफी, ये है मामला

Print Friendly, PDF & Email

डेस्क। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने आज पतंजलि आयुर्वेद के भ्रामक विज्ञापन मामले में बाबा रामदेव (Baba Ramdev) और आचार्य बालकृष्ण को फटकार लगाई है। जिसके बाद अदालत के आदेश का उल्लंघन करने के लिए उन्होंने बिना शर्त माफी मांगी। दरअसल पतंजलि आयुर्वेद (Patanjali Ayurveda) के खिलाफ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने याचिका दायर की थी।

यह भी पढ़ें-मस्जिद कमेटी को लगा झटका, ज्ञानवापी में पूजा और नमाज दोनों रहेगी जारी

जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने 27 फरवरी को कंपनी को निर्देश दिया था कि वह भ्रामक जानकारी देने वाले अपनी दवाओं के सभी इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट विज्ञापनों (advertisements) को तत्काल प्रभाव से बंद कर दे। इसी सिलसिले में बाबा रामदेव (Baba Ramdev) व्यक्तिगत रूप से पेश होने के लिए जारी किए गए समन के तहत सुप्रीम कोर्ट पहुंचे थे।

न्यायमूर्ति हिमा कोहली और न्यायमूर्ति अहसानुद्दीन अमानुल्लाह की पीठ के सामने ये सुनवाई हुई। कोर्ट (Supreme Court) ने पतंजलि आयुर्वेद (Patanjali Ayurveda) के उत्पादों और उनके चिकित्सकीय प्रभावों के विज्ञापनों से संबंधित अवमानना कार्यवाही के मामले में 19 मार्च को रामदेव (Baba Ramdev) और बालकृष्ण से व्यक्तिगत रूप से अपने समक्ष पेश होने को कहा था। पीठ ने कंपनी और बालकृष्ण को पहले जारी किए गए अदालत के नोटिस का जवाब दाखिल नहीं करने पर कड़ी आपत्ति जताई थी।

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने कहा है कि सर्वोच्च अदालत ही नहीं, देश की किसी भी अदालत का आदेश हो, उसका उल्लंघन नहीं होना चाहिए। कोर्ट (Supreme Court) ने पतंजलि (Baba Ramdev) की माफी को स्वीकार नहीं किया। अदालत ने कहा कि आपने क्या किया है, उसका आपको अंदाजा नहीं है। हम अवमानना की कार्यवाही करेंगे। इस मामले की 10 अप्रैल को दोबारा सुनवाई होगी। बाबा रामदेव (Baba Ramdev) और आचार्य बालकृष्ण को कोर्ट में उपस्थित रहना होगा।

Tag: #nextindiatimes #SupremeCourt #BabaRamdev

RELATED ARTICLE