23 C
Lucknow
Tuesday, March 5, 2024

अयोध्या के रामलला के लिए पाकिस्तान से आई पोशाक, जानें क्या है कनेक्शन

Print Friendly, PDF & Email

अयोध्या। उत्तर प्रदेश के अयोध्या में बन रहे भव्य राम मंदिर के शुभारंभ की तैयारियां जोरों पर चल रही है। 22 जनवरी को मंदिर में रामलला और अन्य देवी देवताओं के प्राण-प्रतिष्ठा का कार्यक्रम रखा गया है। इसी बीच पाकिस्तान से रामलला की पोशाक भी अयोध्या पहुंच चुकी है।

यह भी पढ़ें- जानें किस दिन जारी होंगे यूजीसी नेट एडमिट कार्ड

रामलला की ये पोशाक पाकिस्तान के सिंध प्रांत से अयोध्या पहुंची है। रामलला की पोशाक अयोध्या के सिंधी कॉलोनी स्थित रामनगर पहुंची। रामनगर के देवालय मंदिर में रामलला के पोशाक की पूजा की गई है। आपको बता दें कि पाकिस्तान में हिंदू समुदाय पर अत्याचार की खबरें आए दिन आती हैं। बावजूद इसके हिंदू धर्म में उनकी आस्था डगमगाई नहीं है।

22 जनवरी को श्रीराम जन्मभूमि मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा होनी है। इसके लिए देश भर के करीब 6000 लोगों को निमंत्रण भेजा गया है। एक जनवरी से ही प्राण प्रतिष्ठा से जुड़े तमाम आयोजन शुरू कर दिए जाएंगे। इन आयोजनों में भगवान को सात समुद्रों और सात नदियों के पानी से नहलाना और अन्य अनुष्ठान होंगे। अनुष्ठान में बड़ा यज्ञ भी किया जाएगा। इसके अलावा 14 देशों के कलाकार अयोध्या में रामलला की प्रतिष्ठा के अवसर पर रामलीला का भी मंचन करेंगे।

साल 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में राम मंदिर के पक्ष में फैसला सुनाया था। उसके बाद से ही राम मंदिर बनने का काम शुरू हुआ। हिंदुओं की मान्यता है कि इसी जगह भगवान राम का जन्मस्थान था और उस पर प्राचीन मंदिर बना था। कानूनी लड़ाई इस वजह से हुई, क्योंकि उस जगह बाबरी मस्जिद बनाई गई थी। वैज्ञानिक तथ्यों और एएसआई सर्वे में मिले सबूतों के आधार पर सुप्रीम कोर्ट ने माना था कि प्राचीन मंदिर को गिराकर उसके ऊपर ही मुगल बादशाह बाबर के सेनापति मीर बाकी ने मस्जिद बनवा दी थी। हिंदुओं और मुस्लिमों के बीच राम जन्मस्थान को लेकर 500 साल तक विवाद की स्थिति बनी रही थी।

Tag: #nextindiatimes #ramlala #pakistan #dress

 

RELATED ARTICLE

close button