34 C
Lucknow
Wednesday, May 22, 2024

मंत्री आलमगीर आलम को कोर्ट ने 6 दिनों की ED रिमांड पर भेजा

Print Friendly, PDF & Email

झारखंड। झारखंड के ग्रामीण विकास मामलों के मंत्री आलमगीर आलम (Alamgir Alam) को 6 दिनों की ईडी (ED) रिमांड पर भेजा गया। मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आलमगीर आलम (Alamgir Alam) को ईडी ने पूछताछ के बाद बुधवार को गिरफ्तार किया था। गुरुवार को उन्हें अदालत पेश किया गया। अदालत ने उन्हें छह दिनों की ईडी (ED) रिमांड का आदेश दिया है।

यह भी पढ़ें-ED ने कांग्रेस नेता आलमगीर आलम को भेजा समन, पूछताछ के लिए बुलाया

ईडी (ED) ने रिमांड नोट में आरोप लगाया कि साल 2023 में गिरफ्तार तत्कालीन चीफ इंजीनियर वीरेन्द्र कुमार राम टेंडर आवंटन के बदले कमीशन लिया करते थे, जिसमें से 1.5 फीसदी कमीशन (commission) मंत्री आलमगीर आलम (Alamgir Alam) को जाता था। जांच के दौरान 6 से 8 मई तक मंत्री आलमगीर आलम (Alamgir Alam) के निजी सचिव संजीव लाल और उसके नौकर जहांगीर आलम समेत अन्य के 6 ठिकानों पर ईडी ने रेड मारी थी, जहां से साढ़े 37 करोड़ रुपए बरामद किए थे।

जांच में पाया गया कि मंत्री आलमगीर आलम (Alamgir Alam) के लिए उसका पीए संजीव लाल पैसों के कलेक्शन का काम करता था। जांच के दौरान ये भी पाया गया कि आलमगीर आलम (Alamgir Alam) टेंडर घोटाले (scam) का मुख्य साजिशकर्ता हैं, जिसे हर टेंडर पर एक फिक्स अमाउंट दिया जाता था। इस घोटाले (scam) में आरोपी से पूछताछ के बाद कुछ और सरकारी अधिकारियों की भूमिका की भी जांच करनी है। इसलिए ईडी आरोपी की 10 दिन की रिमांड की मांग की थी।

हालांकि दोनों तरफ की दलील सुनने के बाद कोर्ट ने आलमगीर आलम (Alamgir Alam) को 6 दिन की रिमांड पर भेजा। बता दें कि ईडी (ED) की छापेमारी के बाद करोड़ो रुपए की कैश बरामदगी के बाद झारखंड की सियासत में बवाल मचा हुआ है। बीजेपी लगातार इस मुद्दे पर झारखंड मुक्ति मोर्चा पर हमला बोल रही है और चुनाव में यह मुद्दा बन गया है। इसमें कहा गया है कि कमीशन के संग्रह और वितरण की पूरी प्रक्रिया ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल और ग्रामीण कार्य विभाग में तैनात सहायक इंजीनियरों द्वारा की जाती थी।

Tag: #nextindiatimes #AlamgirAlam #ED #scam

RELATED ARTICLE