30 C
Lucknow
Wednesday, April 24, 2024

मुख्तार की मौत पर सिपाही ने लगाया ऐसा व्हाट्सएप स्टेटस, पड़ गए लेने के देने

Print Friendly, PDF & Email

लखनऊ। माफिया मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) के निधन के बाद से ही काफी घमासान मचा हुआ है। कई राजनीतिक दलों ने सरकार के खिलाफ हमला बोल दिया है। यहां तक पूर्व डीजीपी सुलखान सिंह ने मुख्तार (Mukhtar Ansari) की मौत को लेकर लग रहे आरोपों को लेकर सीबीआई जांच की मांग की है।

यह भी पढ़ें-सुपुर्द-ए-खाक किया गया माफिया मुख्तार अंसारी, बेकाबू भीड़ को पुलिस ने खदेड़ा

इसी सिलसिले में यूपी पुलिस के एक कॉन्स्टेबल (constable) ने व्हाट्सएप पर आपत्तिजनक स्टेटस (WhatsApp status) लगा दिया जिसके बाद उसे अब लेने के देने पड़ गए हैं। इस सिपाही का नाम फैयाज खान बताया जा रहा है। राजधानी लखनऊ के बख्शी का तालाब थाने में तैनात कॉन्स्टेबल (constable) फैयाज खान ने मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) के समर्थन में पोस्ट कर दिया है। फैयाज खान ने अपने वॉट्सऐप स्टेटस पर एक पोस्ट में मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) को शेर-ए-पूर्वांचल बताते हुए लिखा कि जिंदा रहेगा वो तो दिलों के अवाम के, ए दिल ना उसकी मौत पे रंजो मलाल कर।

फैयाज ने आगे लिखा कि हिम्मत नहीं थी, सामने आकर लड़े कोई, धोखे से मारा शेर को पिंजरे में डालकर। साथ ही लिखा अलविदा शेर-ए-पूर्वांचल। मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari)। इतना ही नहीं कॉन्स्टेबल ने मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) के समर्थन में दूसरा पोस्ट भी लिखा… शेर की खुराहट (गुर्राहट) से जिनके आका बाप दादा की पैंट गीली हो जाती थी, वो आज बाबा की माया के नारे लगा रहे हैं।

कॉन्स्टेबल फैयाज के वॉट्सऐप स्टेटस (WhatsApp status) वायरल होने के बाद जांच में वो दोषी पाए गए हैं। एसएचओ बीकेटी के द्वारा भेजी गई आख्या से स्पष्ट हो रहा है कि कॉन्स्टेबल फैयाज खान ने उत्तर प्रदेश पुलिस सोशल मीडिया पॉलिसी और 1991 नियमों का उल्लंघन किया गया है। डीसीपी उत्तरी ने कॉन्स्टेबल फैयाज खान के सस्पेंस की परमिशन के लिए चुनाव आयोग (Election Commission) को पत्र भेज दिया है। चुनाव आयोग (Election Commission) द्वारा परमिशन देने पर कॉन्स्टेबल फैयाज खान को निलंबित किया जाएगा।

Tag: #nextindiatimes #whatsappstatus #uppolice #MukhtarAnsari

RELATED ARTICLE