22 C
Lucknow
Sunday, March 3, 2024

राम मंदिर समारोह का निमंत्रण ठुकराने पर भड़की भाजपा, कह दी बड़ी बात

Print Friendly, PDF & Email

अयोध्या। एक तरफ पूरी दुनिया रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का इंतजार कर रही है वहीं कांग्रेस समेत तमाम पार्टियों ने समारोह के न्योते को ठुकरा दिया है। रामलला की प्राण प्रतिष्ठा समारोह में कांग्रेस (Congress) नेताओं के शामिल न होने पर भाजपा (BJP) ने नाराजगी जाहिर की है। आज भाजपा (BJP) प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा है।

यह भी पढ़ें-राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में नहीं शामिल होंगी कांग्रेस समेत ये पार्टियां

उन्होंने कहा, “आपको (Congress) राम मंदिर उद्घाटन में शामिल होने के लिए निमंत्रण भेजा गया, लेकिन चंद कट्टरपंथी वोटों के लिए आपने निमंत्रण ठुकरा दिया।” भाजपा (BJP) नेता ने आगे कहा,” आप अपने को बदलकर दिखा सकते थे, आपने ऐसा नहीं किया। यह नेहरू का कांग्रेस (Congress) है। यह महात्मा गांधी का कांग्रेस नहीं है। गांधी की समाधि पर लिखा है हे राम। इन्होंने इस अवसर को अपने हाथ से गंवाया है।”

सुधांशु त्रिवेदी ने आगे कहा कि कांग्रेस (Congress) ने हिंदू धर्म के विरोध दर्शााया है। चंद कट्टरपंथी विचारधारा वोटों की वजह से कांग्रेस ने यह फैसला लिया है। राम नाम कड़वा लगे और प्यारा लगे राम तो। दुविधा में दोनो गए, माया मिली न राम।” सुधांशु त्रिवेदी ने आगे कहा, “कांग्रेस (Congress) ने नए संसद भवन के उद्घाटन समारोह का बहिष्कार किया। कांग्रेस ने जी20 शिखर सम्मेलन (G20 summit) का बहिष्कार किया। 2004 के बाद 2009 तक, कांग्रेस ने कारगिल विजय दिवस का बहिष्कार किया। अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार के नेतृत्व में मई 1998 में किए गए पोखरण परमाणु परीक्षण के बाद कांग्रेस ने 10 दिनों तक कोई बयान नहीं दिया। कांग्रेस ने अपनी पार्टी के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के भारत रत्न समारोह का भी बहिष्कार किया था। जनता भी उनका सत्ता से बहिष्कार कर रही है।”

Ayodhya Ram Mandir Tableau In Republic Day Parade Ann | राजपथ पर दिखेगी अयोध्या की झलक, गणतंत्र दिवस परेड में नजर आएगी राम मंदिर की झांकी

भाजपा (BJP) नेता ने यह भी कहा कि उन लोगों को निमंत्रण भेजा गया, जिन लोगों ने कारसेवकों और रामभक्तों पर गोलियां चलाई थी। वो लोग भी इस समारोह में शामिल होंगे, लेकिन कांग्रेस इस समारोह में नहीं आएगी। बता दें कि बुधवार को कांग्रेस (Congress) ने पत्र जारी करते हुए कहा कि अयोध्या में रामलला प्राण प्रतिष्ठा का समारोह भाजपा (BJP) और आरएसएस का एक इवेंट है। इस समारोह में सोनिया गांधी (Sonia Gandhi), मल्लिकार्जुन खरगे (Mallikarjun Kharge) और अधीर रंजन चौधरी शामिल नहीं होंगे।

Tag: #nextindiatimes #Congress #BJP #SoniaGandhi

RELATED ARTICLE

close button