34 C
Lucknow
Wednesday, May 22, 2024

बाबा रामदेव ने फिर मांगी माफी, कोर्ट ने लगा दी फटकार, माफीनामे पर उठाए सवाल

Print Friendly, PDF & Email

नई दिल्ली। पतंजलि विज्ञापन केस में बाबा रामदेव (Baba Ramdev) और आचार्य बालकृष्ण बुरी तरह फंस चुके हैं। वह कोर्ट (Supreme Court) में माफ़ी मांगने के अलावा समाचार पत्रों में भी माफीनामा (apology) प्रकाशित करवा रहे हैं लेकिन फिर भी कोर्ट (Supreme Court) से उनको फटकार मिल रही है। हालांकि इस मामले में अगली सुनवाई 30 अप्रैल को होगी।

यह भी पढ़ें-जनता से माफी मांगने को तैयार बाबा रामदेव, SC ने दिया एक सप्ताह का समय

आज सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में चल रही सुनवाई के दौरान जस्टिस हिमा कोहली और जस्टिस अमानतुल्लाह की बेंच में पतंजलि की ओर से एडवोकेट मुकुल रोहतगी ने कहा- हमने माफीनामा (apology) फाइल कर दिया है। इसे देश भर के 67 अखबारों में पब्लिश किया गया है। इस पर फटकार लगाते हुए जस्टिस हिमा कोहली ने कहा- ‘क्या माफी आपके विज्ञापनों के आकार के बराबर मांगी गई है? कृपया इन विज्ञापनों की कटिंग ले लें और हमें भेज दें। इन्हें बड़ा करने की जरूरत नहीं है। हम इसका वास्तविक साइज देखना चाहते हैं। ये हमारा निर्देश है।’

कोर्ट की इस फटकार के बाद यह बात तो स्पष्ट हो गई है कि बाबा रामदेव (Baba Ramdev) और आचार्य बालकृष्ण को पतंजलि विज्ञापन केस में अभी राहत नहीं मिल पाएगी। कोर्ट (Supreme Court) ने रामदेव और बालकृष्ण को निर्देश दिया कि अगले दो दिन में वे ऑन रिकॉर्ड माफीनामा (apology) जारी करें, जिसमें लिखा हो कि उन्होंने गलती की। फिलहाल मामले की अगली सुनवाई अब 30 अप्रैल को होगी।

इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) को भी फटकार लगते हुए कहा है कि वह पतंजलि पर अंगुली उठा रहा है, जबकि चार अंगुलियां उन पर इशारा कर रही हैं। आईएमए (IMA) से सुप्रीम कोर्ट ने पूछते हुए कहा कि आपके (IMA) डॉक्टर भी एलोपैथिक क्षेत्र में दवाओं का समर्थन कर रहे हैं। अगर ऐसा हो रहा है, तो हमें आप (IMA) पर सवाल क्यों नहीं उठाना चाहिए?

Tag: #nextindiatimes #SupremeCourt #BabaRamdev

RELATED ARTICLE