अब महंगा पड़ेगा आपको कुत्ता पालना, बढ़ाई जाएगी रजिस्ट्रेशन फीस

यदि आप लखनऊ में रहते हैं और कुत्ता पालने के शौकीन हैं तो यह शौक आपको महंगा पड़ सकता है. लखनऊ नगर निगम अब कुत्ता पालने पर टैक्स बढ़ाने जा रहा है. नगर निगम लखनऊ रजिस्ट्रेशन फीस बढ़ाने की तैयारी कर रहा है. इसके तहत अब 500 रुपए की जगह 1000 रुपए शुल्क लिया जा सकता है. अधिकारियों का कहना है कि इसको लेकर प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है. बताया जा रहा है कि आने वाली कार्यकारिणी की बैठक में यह प्रस्ताव रखा जाएगा. वहां से पास होने के बाद इसको लागू कर दिया जाएगा. मौजूदा समय में नगर निगम 200, 300 और 500 रुपए रजिस्ट्रेशन फीस ली जाती है. इसको अब 1000 रुपए करने की तैयारी है.

बता दें कि लखनऊ में करीब 5000 लोगों ने डॉग्स का रजिस्ट्रेशन कराया है. इससे विभाग को करीब 20 लाख रुपए का राजस्व मिलता है. लखनऊ में कुत्ता पालने के रूप में नगर निगम अलग- अलग टैक्स की वसूली करता था, जिसमें बड़ी ब्रीड के कुत्तों के 500 रुपए, छोटी ब्रीड के कुत्तों पर 300 रुपए और देशी कुत्त पालने पर 200 रुपए टैक्स वसूलता था लेकिन अब सभी प्रकार के कुत्ते पालने पर टैक्स के रूप में 1000 रुपए देने होंगे

50 लाख तक पहुंच जाएगा राजस्व
अगर निगम 1000 रुपए रजिस्ट्रेशन शुल्क करता है, तो आने वाले वित्तीय साल में विभाग का राजस्व 50 लाख रुपए पहुंच जाएगा. एक अप्रैल से 31 मार्च तक डॉग्स के रजिस्ट्रेशन का सत्र रहता है. ऐसे में इस साल जिसका रजिस्ट्रेशन हो गया है, उनको पैसा नहीं देना होगा. हालांकि, अगले साल उनकी जेब ढीली हो सकती है.

15 अगस्त के बाद तेज होगा अभियान
नगर निगम सूत्रों के अनुसार, अभी बहुत बड़े वर्ग ने अपने डॉग्स का रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है. ऐसे में 15 अगस्त के बाद सुबह और शाम नगर निगम चेकिंग अभियान चलाया जाएगा. इसमें अपार्टमेंट में खासकर इस अभियान को तेज किया जाएगा, ताकि विभाग का राजस्व बढ़ सके. एक अनुमान के अनुसार, शहर में करीब 25 हजार से ज्यादा परिवार के पास पालतू जानवर हैं. अभी तक महज 20 फीसदी लोगों ने ही रजिस्ट्रेशन कराया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

19 − eight =

Back to top button