चीन के शिनजियांग में बन रहे प्रोडक्ट्स पर अमेरिका ने लगाया प्रतिबंध

 अमेरिका ने चीन के शिनजियांग प्रदेश से आयात हो रहे प्रोडक्ट्स पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक अब चीनी फर्म्स को अमेरिका को शिनजियांग क्षेत्र का माल बेचने के लिए यह साबित करना होगा कि यह जबरन श्रम करके नहीं तैयार करवाया गया है। अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि शिनजियांग क्षेत्र के अल्पसंख्यक उइगर मुस्लिमों को गिरफ्तार कर उन्हें काम करने के लिए मजबूर किया जा रहा है।

21 जून से प्रभावी हो गया कानून
कपास और टमाटर सहित अमेरिका में शिनजियांग क्षेत्र के कई प्रोडक्ट्स को पहले ही प्रतिबंधित किया गया है। उइगर जबरन श्रम रोकथाम अधिनियम 21 जून से प्रभावी हो गया है जो सभी आयातों पर प्रतिबंधों का विस्तार करेगा। अमेरिकी रिपब्लिकन सीनेटर मार्को रुबियो, डेमोक्रेट सीनेटर जेफ मर्कले और दो अन्य सांसदों ने कहा है कि कांग्रेस इस ऐतिहासिक कानून को पूरी तरह से और सख्ती से लागू करने के लिए राष्ट्रपति जो बाइडेन और उनके प्रशासन के साथ काम करने के लिए तैयार है।
चीन ने शिनजियांग में लाखों मुस्लिम अल्पसंख्यकों को कैद किया हुआ है?
रिपोर्ट्स बताती हैं कि चीन ने शिनजियांग क्षेत्र में अल्पसंख्यकों की एक बड़ी आबादी को नजरबंदी शिविर में रखा हुआ है कि लेकिन बीजिंग ने लगातार इससे इनकार किया है। अमेरिकी कांग्रेस के मुताबिक अप्रैल 2017 से चीन ने शिनजियांग में दस लाख से अधिक उइगर और अन्य मुस्लिम अल्पसंख्यकों को जेल में डाल दिया है। रिपोर्ट्स बताती हैं कि चीन इन हजारों कैदियों से न्यूनतम मजदूरी या बिना किसी पारिश्रमिक के काम कराता है।

अंतर्राष्ट्रीय (आरएनएस )

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

two × two =

Back to top button