प्रेसीडियम स्कूल के 3 प्रबंधकों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी,जानिए क्या है पूरा मामला

गाजियाबाद में इंदिरापुरम के अहिंसा खंड एक स्थित प्रेसीडियम मदर्स प्राइड स्कूल के प्रबंधकों के खिलाफ मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने गैर जमानती वारंट (एनबीडब्ल्यू) जारी किया है। सभी पर स्कूल की फीस व स्कूल में निवेश के बहाने 2.85 करोड़ रुपये हड़पने का आरोप है। इंदिरापुरम पुलिस ने सोमवार को स्कूल के गेट पर नोटिस चस्पा किया। स्कूल के अभिभावकों में यह चर्चा का विषय बना हुआ है।

प्रेसीडियम स्कूल की प्रबंधक सुधा गुप्ता, उनके पति देवेंद्र कुमार गुप्ता और बेटे पारस गुप्ता के खिलाफ एनबीडब्ल्यू जारी हुआ है। तीनों द्वारका लिंक रोड नई दिल्ली में रहते हैं। उनके आवास पर भी नोटिस चस्पा कर इंदिरापुरम पुलिस आरोपितों की तलाश में जुटी है। सभी आरोपित फरार हैं।

लोगों से निवेश कराए थे रुपये

इंदिरापुरम शिप्रा कृष्णा विस्टा के अनंतशील ने वर्ष 2011 में अपने बेटे उमंग व अनिरुद्ध का स्कूल में दाखिला कराया था। स्कूल प्रबंधन ने 12वीं तक की फीस एक बार में जमा करने पर बार-बार फीस देने से छुटकारा और पढ़ाई पूरी होने पर रुपये वापस करने की योजना बताकर दोनों बच्चों के 23 लाख रुपये ले लिए। बाद में स्कूल प्रबंधन ने उनसे कहा कि वह प्रेसीडियम व मदर्स प्राइड स्कूल की 200 शाखाएं बनाना चाहते हैं।

आरोप है कि स्कूल प्रबंधन की ओर से अनंतशील को प्रलोभन देकर कुल दो करोड़ 62 लाख रुपये का निवेश कराकर हड़प लिए। निवेश के बदले अच्छी कमाई का झांसा दिया गया।

पीड़ित अनंतशील ने कोर्ट के आदेश पर इंदिरापुरम थाने में सात जुलाई 2020 को मुकदमा दर्ज कराया था, जिसमें प्रबंधक सुधा गुप्ता, देवेंद्र गुप्ता, पारस गुप्ता, मेघा वर्मा, राजरानी गुप्ता, भूमिका लूथरा, आशुतोष शर्मा, अनिल कुमार गोयल, नीलम बंसल, जगमोहन गर्ग व साहिल गर्ग के खिलाफ धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

एक और एफआइआर है दर्ज

उधर, इंदिरापुरम अहिंसा खंड दो के अरिहंत हारमनी निवासी बृजेश नंदन पाठक ने भी छह जुलाई 2020 को प्रबंधक देवेंद्र गुप्ता, पारस, सुधा, भूमिका लूथरा, सरिता, आशुतोष शर्मा, अनिल गोयल, नीलम बंसल, निखिल गुप्ता, जगमोहन गर्ग व साहिल गर्ग पर ठगी समेत अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उन्होंने प्रबंधन पर तीन करोड़ 45 लाख और पत्नी से तीस लाख ठगने का आरोप लगाया है। पुलिस इसकी भी जांच कर रही है।

उधर, कोर्ट के आदेश पर आरोपितों के घर और स्कूल पर वारंट चस्पा कर दिया गया है। सभी आरोपित फरार हैं। गिरफ्तारी करने का प्रयास किया जा रहा है।  अभय कुमार मिश्र (पुलिस क्षेत्रधिकारी इंदिरापुरम) के मुताबिक,  

वहीं, स्कूल की प्रधानाचार्य मनविंदर कौर का कहना है कि स्कूल प्रबंधन पर लगाए आरोप गलत हैं। मामले को लेकर स्कूल को बदनाम करने के लिए अफवाह फैलाई जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

fifteen + 13 =

Back to top button