माइग्रेन में होने वाले दर्द से आराम दिला सकते हैं ये उपाय

माइग्रेन का पेन सिर के एक हिस्से में होता है और यह दर्द कुछ मिनट से लेकर घंटे भर तक रह सकता है। आज यानी 5 सितंबर से 14 सितंबर तक माइग्रेन अवेयरनेस वीक मनाया जाता है। जानते हैं इसके बारे में कुछ जरूरी बातें।

 माइग्रेन दुनिया में सबसे कॉमन बीमारियों में तीसरे नंबर पर आता है, जो किसी को भी कभी भी हो सकती है। डब्लूएचओ के अनुसार, हर 7 में से 1 व्यस्क माइग्रेन का शिकार है। यह समस्या पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में ज्यादा देखने को मिलती हैं। जिसकी एक वजह महिलाओं में एस्ट्रोजन हॉर्मोन में होने वाले बदलाव है। विस्तार से जानते हैं माइग्रेन के बारे में, इसकी वजहें और बचाव के उपायों के बारे में..

क्या है माइग्रेन?

माइग्रेन सिरदर्द का एक प्रकार है जो ज्यादातर सिर के एक हिस्से में होता है। जिसके चलते ओकाई और उल्टी महसूस होती रहती है। माइग्रेन का यह पेन कुछ मिनट से लेकर घंटे भर और कई बार तो पूरे दिन भी रह सकता है। जिसकी वजह से पूरी दिनचर्या प्रभावित हो सकती है। इस दर्द को मामूली समझने की गलती न करें।

माइग्रेन की वजह 

माइग्रेन के लक्षण हर एक व्यक्ति में अलग-अलग हो सकते हैं लेकिन जो बहुत कॉमन हैं उनके बारे में जान लेना जरूरी है, जैसे- डिहाइड्रेशन, मौसम के साथ खानपान में बदलाव, रूटीन चेंज होना, बहुत तेज रोशनी, तेज गंध और हॉर्मोनल बदलाव। इनमें से किसी भी वजह से माइग्रेन का दर्द उठ सकता है। 

आराम दिला सकते हैं ये उपाय 

– माइग्रेन अटैक आए और अगर आप अकेले हैं, तो डरने, घबराने के बजाय शांत रहने की कोशिश करें। 

– माइग्रेन में होने वाले दर्द में ब्लड वेसेल्स फैल जाती हैं, जिसके चलते सिर का ब्लड फ्लो एकदम से बढ़ जाता है। तो ऐसे में बिस्तर पर इस तरह लेटें जिसमें सिर धड़ से थोड़ा ऊपर की ओर रहे। इस पोजीशन के लिए सिर के नीचे तकिया, टॉवल या कंबल को मोड़कर सिर के नीचे लगा सकते हैं। 

दर्द कम करने और मसल्स को रिलैक्स करने के लिए सिर और गले के आसपास आइस पैक या फिर हीटिंग पैड की मदद से सिकाई करना फायदेमंद रहेगा।

– दर्द से राहत पाने के लिए आप हॉट शॉवर भी ट्राय कर सकते हैं।

– तेज रोशनी से बचें, अंधेरे में दिमाग थोड़ा रिलैक्स फील करता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button