प्रेमी के साथ पकड़ी गई पत्नी तो नाराज पति ने कर दी हत्या, फिर शव के साथ किया ऐसा काम

उत्तराखंड के कालाढूंगी में अवैध संबंधों के शक में पति ने रणनीति के तहत मंगलवार की रात बीवी को बातचीत के लिए लूनिया खत्ते में बुलाया तथा वहां विवाद होने पर दुपट्टे से गला कसकर उसे मार डाला। कालाढूंगी पुलिस ने अपराधी पति को गिरफ्तार कर बुधवार को अदालत में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया। दरअसल, बैलपड़ाव मौजूद लूनिया खत्ता वन इलाके निवासी आमना (18) पुत्री रुस्तम अली का शव बुधवार को घर से लगभग 30 मीटर की दूरी पर मिला। तहरीर पर पुलिस मौके पर पहुंची तथा शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। इस घटना में पुलिस ने आमना के दादा गुलाम नवी की शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर लिया।

बुधवार देर शाम घटना का खुलासा करते हुए SP क्राइम जगदीश चंद्र ने कहा कि लूनिया खत्ता वन इलाके में शव मिलने के बाद पुलिस की प्राथमिक तहकीकात से पता चला कि आमना का गला कसकर क़त्ल किया गया है। पुलिस ने छानबीन के पश्चात् आमना के पति रियासत अली को गिरफ्त में ले लिया। अपराधी ने पुलिस को बताया कि डेढ़ वर्ष पूर्व उसकी शादी मामा की युवती आमना से हुई थी किन्तु गौना नहीं होने की वजह से दोनों अलग-अलग रहते थे। 6 माह पहले धान की पुराल इकट्ठा करने वह यहां आया हुआ था। इसी के चलते उसे पता चला कि आमना का अपने ताऊ के लड़के के साथ चक्कर चल रहा है। एक दिन उसने दोनों को रंगे हाथों पकड़ भी लिया था। इसी वजह से उसे बीवी से नफरत हो गई। 

वही मंगलवार की रात उसने अपने फ़ोन से आमना को व्हाट्सएप मैसेज कर बाहर चर्चा के लिए बुलाया। बीवी के आने पर उसने उसके दूसरी जगह चल रहे चक्कर के बारे में पूछा। इस पर वह उससे लड़ाई करने लगी। गुस्से में उसने पत्नी के दुपट्टे से ही उसका गला कसकर उसे मार डाला। मौत के पश्चात् उसने शव को उठाकर घर के पीछे रखी पराल के ढेर के पास रख दिया। मामले को अंजाम देने के पश्चात् वह अपने बिस्तर पर जाकर सो गया। थोड़ी देर में लगभग 1 बजे आमना की मम्मी आई तथा बोलने लगी कि आमना को कुछ हो गया है। वही क़त्ल के करने के बाद अपने मामा हनीफ और मामी के साथ अपराधी रियासत पराल के पास पत्नी के शव को देखने के लिए गया। इस बीच, उसने किसी को एहसास नहीं होने दिया कि उसने बीवी को मार डाला है। उसने आमना के साथ हुई चैटिंग को डिलीट कर दिया। जुर्म स्वीकार करने के बाद पुलिस ने अपराधी को गिरफ्तार कर कोर्ट के सामने पेश किया। कोर्ट ने उसे न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेज दिया। थानाध्यक्ष राजवीर सिंह ने कहा कि क़त्ल के पश्चात् रियासत ने अपने और पत्नी के फ़ोन से मैसेज डिलीट किए थे। इस बारे में पूछने पर वह सकपका गया। पुलिस ने कड़ाई दिखाई तो अपराधी कुछ ही देर में टूट गया। इस प्रकार से क़त्ल का खुलासा हो गया। क़त्ल की गुत्थी सुलझाने में उपनिरीक्षक वीरेंद्र सिंह बिष्ट, उप निरीक्षक विजय कुमार, लखविंदर सिंह चंद्रप्रकाश, जगदीश पांडे साथ थे। SSP पंकज भट्ट ने पुलिस टीम को 5 हजार रुपये इनाम देने का ऐलान किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

3 − 1 =

Back to top button