पलक झपकते ही मिट्टी में मिल गए करप्शन के ट्विन टावर्स, धुएं के गुबार में डूबा नोएडा

 नोएडा में सुपरटेक के करीब 103 मीटर ऊंचे अवैध ट्विन टावर्स को ढहा दिया गया। महज 9-12 सेकेंड में कुतुब मीनार से भी ऊंची इमारतें स्वाहा हो गईं। इसके ध्वस्तीकरण के लिए करीब 9640 छेद में 3700 किलो विस्फोटक का प्रयोग किया गया था। ठीक 2.30 पर पलक झपकते ही 32 और 29 मंजिला करप्शन के ट्विन टावर्स मिट्टी में मिल गए।

नोएडा – (आरएनएस)

सुपरटेक ट्विन टावर्स को गिराने में करीब 17.55 करोड रुपये का खर्च आने का अनुमान है। टावर्स को गिराने का यह खर्च भी बिल्डर कंपनी सुपरटेक ही वहन करेगी। इन टॉवरों के गिरने के बाद पूरा नोएडा धुएं के गुबार में डूब गया है।
बता दें कि कई वर्षों तक चली कानूनी लड़ाई के बाद रविवार को ट्विन टावर मलबे में बदल गए। नोएडा प्रशासन और पुलिस के आला अधिकारी इस मौके पर मौजूद थे। वरिष्ठ अधिकारी स्पेशल कमांड सेंटर से पल पल की निगरानी कर रहे थे। ढाई बजते ही एक धमाके के साथ ट्विन टावर को सिर्फ 9 सेकंड में जमीदोंज कर दिया गया। इमारत गिराने के काम में एडिफिस इंजीनियरिंग को लगाया गया था।
ट्विन टावर के पास ही एक स्पेशल कमांड सेंटर भी बनाया गया जहां गौतमबुद्ध नगर के पुलिस कमिश्नर और कलेक्टर सहित तमाम बड़े अधिकारी पल पल की गतिविधि पर नजर रखे हुए थे। इस पूरे ऑपरेशन के लिए 7 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए। ड्रोन कैमरे से भी हर गतिविधि पर नजर रखी गई ताकि कोई अनहोनी ना हो। इस ऐतिहासिक लम्हे को सैकड़ों लोगों ने मोबाइल में और मीडियाकर्मियों ने अपने कैमरे में कैद किया।

Tags : #upnews #uttarpradesh #noida #twintower #twintowerCorruption #hindinews #latestnews

Rashtriya News

Related Articles

Back to top button