विद्यतु समाधान सप्ताह को अधिकारी खुद कर रहे असफल, ऊर्जा मंत्री के आदेशों का नहीं दिख रहा असर

प्रदेश के ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ने बिजली उपभोगताओं को बड़ी राहत देने के उद्देश से 12 से 19 सितम्बर तक विद्युत समाधान सप्ताह के तहत सभी उपकेन्द्रों पर शिविर लगाने के आदेश दिये। जिसके बाद सभी उपकेन्द्रों पर बिजली से सम्बंधित शिकायतों का समाधान मौके पर किये जाने का कार्य करने के दावे किये जा रहे। इस अभियान को सफल बनाने के लिए ऊर्जा मंत्री खुद उपकेन्द्रों का दौरा करते भी नजर आ रहे है,साथ ही लापरवाह अधिकारियों पर बड़ी कार्रवाई भी कर रहे है। इसके बावजूद राजधानी में विद्यतु समाधान सप्ताह शिविर में बैठे जिम्मेदार अधिकारी अपनी मनमानी पर उतारू है और पीड़ित उपभोगताओं की समस्याओं को गम्भीरता से नहीं लेते नजर आ रहे है। 

लखनऊ (आरएनएस )

 इसी कड़ी में तरूणमित्र संवाददाता ने जब विद्युत समाधान सप्ताह के तहत 33/11 के.वी. उपकेंद्र विश्वविद्यालय का जायजा लिया तो वहां काफी सन्नाटा दिखाई दिया। वहीं यहां मौजूद शिवांकित यादव एसएसओ ने बताया कि 10-12 लोगा रोज आते हैं, जिसमें बिजली मीटर की गड़बड़ी,रीडिंग न होने,गलत बिल आने,बिजली बिल को किश्तों में कराने और नये कनेक्शन लेने जैसी समस्याएं आ रही हैं। यहां अब तक कुल 22 शिकायतें आयी हैं वही आज सुबह से 3 शिकायतें आयी हैं। शिवांकित के अनुसार यहां कैम्प लगाने का कोई फायदा ही नहीं क्योंकि इस उपकेंद्र के क्षेत्र में अधिकतर पढ़े-लिखे व जागरूक लोग रहते हैं इस तरह के कैम्प गांव-दिहात और दूर-दराज इलाकों में लगने चाहिए जहां इसकी जरूरत है। वहीं विश्वविद्यालय उपकेन्द्र पर अपनी शिकायत लेकर आए बाबा की बगिया डालीगंज निवासी ज्ञानेश मिश्रा ने बताया कि जनवरी के बाद से उनके बिजली मीटर की रीडिंग नहीं हुई है। इसलिए अब उन्होंने विद्युत समाधान शिविर में समस्या बतायी है। यहां से अभी भी सिर्फ आश्वासन ही मिला है। इसी तरह रियाज अहमद सराय हसनगंज,डालीगंज निवासी ने बताया कि उनके यहां भी दो महीने से मीटर रीडिंग नहीं हुई जिसके बाद उन्होंने अंदाजे से 3000 हजार रूपए बिजली का बिल जमा कर दिया है। कई बार शिकायत के बाद भी मीटर रीडिंग करने नहीं आते है, इसलिए आज फिर से  प्रार्थनापत्र दिया है,लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई सिर्फ आश्वासन ही मिला है। इतना ही नहीं शिविर में बैठे अधिकारी ने हमसे अभद्र व्यवहार किया बोले यहां क्यों खड़े हो इसी के साथ तमाम उल्टी सीधी बातें की और कहा जाओ तुम्हारा काम हो जाएगा लेकिन अभी नहीं होगा।
गौरतलब है कि यहां आने वाले पीड़ित उपभोगताओं की समस्या का समाधान कैसे होगा इसका अंदाजा इस केन्द्र के अन्दर मौजूद अव्यवस्थाओं को देखकर समझा जा सकता है। केन्द्र के अंदर दाखिल होते ही विशालकाय वृक्ष के दबाव से दीवर पूरी तरह चिटकी खड़ी जिससे यहां कभी भी कोई हादसा हो सकता है,लेकिन यहां बैठे जिम्मदार अधिकारी पूरे भरोसे  से कह रहे है कि ये दीवार नहीं गिरेगी। इतना ही नहीं केन्द्र के बाहर सड़क सीढ़ी पड़ी और रोड खुदी हुई जिससे बारिश में राहगीरों को काफी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ रहा है। इससे बखूबी अंदाजा लगाया जा सकता है कि जो उपकेन्द्र अपनी समस्याएं नहीं दूर कर सकता है वह उपभोगताओं की समस्याओं को कैसे दूर करेंगा।

TAGS : #Electricity #Utility #ElectricityProblems #ElectricityConsumers #ElectricityEnergyMinister #AKSharma #Hindinews

Rashtriya News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button