रेपो रेट बढ़ने से शेयर बाजार में मचा हाहाकार,1,474 अंक तक नीचे गया सेंसेक्स

र‍िजर्व बैंक (RBI) की तरफ से रेपो रेट बढ़ाने का ऐलान होने के बाद शेयर बाजार के कारोबार में दोपहर के समय तेज गिरावट आई. दोनों मानक सूचकांक बीएसई सेंसेक्स (BSE Sensex) और एनएसई निफ्टी (NSE Nifty) 2 प्रतिशत से अधिक लुढ़ककर बंद हुए. भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के अचानक रेपो दर बढ़ाकर 4.40 प्रतिशत करने की घोषणा के बाद बाजार में गिरावट आई.

1,474 अंक तक नीचे गया

30 शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 1,306.96 (2.29 प्रतिशत) लुढ़ककर 55,669.03 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह एक समय 1,474.39 अंक तक नीचे चला गया था. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 391.50 (2.29 प्रतिशत) टूटकर 16,677.60 अंक पर बंद हुआ. रिजर्व बैंक ने रेपो दर 0.40 प्रतिशत बढ़ाकर 4.40 प्रतिशत करने का निर्णय किया.

मुद्रास्फीति को काबू करने का प्रयास

मुख्य रूप से मुद्रास्फीति को काबू में लाने के लिये केंद्रीय बैंक ने यह कदम उठाया है. खुदरा महंगाई दर पिछले तीन महीने से लक्ष्य की ऊपरी सीमा छह प्रतिशत से ऊपर बनी हुई है. छह सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति (MPC) की तय कार्यक्रम के बिना हुई की बैठक में सभी 6 सदस्यों ने आम सहमति से नीतिगत दर बढ़ाने का निर्णय किया. दूसरी तरफ उदार रुख को भी कायम रखा गया है.

रेपो दर में इजाफा चौंकाने वाला

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार के विजयकुमार ने कहा, ‘बिना पूर्व कार्यक्रम के एमपीसी की बैठक में रेपो दर में 0.40 प्रतिशत और नकद आरक्षित अनुपात (CRR) में 0.50 प्रतिशत की वृद्धि ‘चौंकाने’ वाली है, क्योंकि यह कदम उस दिन उठाया गया, जिस दिन एलआईसी का आईपीओ खुला है.’ उन्होंने कहा, ‘देश के सबसे बड़े आईपीओ के पहले दिन सेंसेक्स में 1,000 अंक से अधिक की गिरावट ने धारणा को प्रभावित किया है.’

इन शेयर में रही ग‍िरावट

सेंसेक्स के शेयरों में टाइटन, बजाज फिनसर्व, बजाज फाइनेंस, इंडसइंड बैंक, एचडीएफसी बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज, एशियन पेंट्स, मारुति और डॉ. रेड्डीज सर्वाधिक नुकसान में रहे. दूसरी तरफ पावरग्रिड, एनटीपीसी और कोटक महिंद्रा बैंक लाभ में रहे. एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी और हांगकांग का हैंगसेंग नुकसान में रहे.

1,853.46 करोड़ के शेयर बेचे

यूरोप के प्रमुख बाजारों में भी दोपहर कारोबार में गिरावट का रुख रहा. इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 3.12 प्रतिशत उछलकर 108.3 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया. शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशकों ने सोमवार को 1,853.46 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

seven + 4 =

Back to top button