तीन रसोई गैस सिलिंडर निश्शुल्क देने समेत कैबिनेट के निर्णयों पर उठे सवाल,आचार संहिता के उल्लंघन का लगाया आरोप

प्रदेश के अंत्योदय राशनकार्डधारकों को तीन रसोई गैस सिलिंडर निश्शुल्क देने समेत मंत्रिमंडल के निर्णयों पर कांग्रेस ने सवाल दागे हैं। पार्टी ने सरकार पर चम्पावत उपचुनाव की आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाया।

पूर्व नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि चम्पावत उपचुनाव प्रक्रिया के दौरान सरकार का निर्णय चुनाव आचार संहिता का स्पष्ट उल्लंघन है। कहा चुनाव आयोग को इसका संज्ञान लेकर कार्रवाई करनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि भाजपा ने विधानसभा चुनाव में गरीबों को प्रति वर्ष तीन सिलिंडर निश्शुल्क देने का वायदा किया था, लेकिन अब सिर्फ अंत्योदय परिवारों को ही तीन सिलिंडर निश्शुल्क दिए जा रहे हैं। बीपीएल श्रेणी के सभी उपभोक्ताओं को यह सुविधा दी जानी चाहिए।

सरकार का निर्णय आचार संहिता का है उल्लंघन

प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि राज्य में विधानसभा चुनाव फरवरी में हुए थे। मार्च में नई सरकार का गठन हो गया था, लेकिन दो महीने तक सरकार ने आम उपभोक्ता को महंगाई से राहत देने को कोई कदम नहीं उठाया। अब अंत्योदय परिवारों को लेकर सरकार का निर्णय आचार संहिता का उल्लंघन है।

इस पर कांग्रेस चुनाव आयोग में करेगी शिकायत

कांग्रेस इसके विरोध में चुनाव आयोग में शिकायत करेगी। प्रदेश महामंत्री संगठन मथुरादत्त जोशी ने कहा कि मंत्रिमंडल के निर्णय चम्पावत उपचुनाव को देखते हुए लिए गए हैं। सरकार और सत्तारूढ़ दल आचार संहिता की धज्जियां उड़ा रही है। कांग्रेस विरोध दर्ज कराएगी।

चम्पावत के डीएम व एडीएम का तबादला हो रद: कांग्रेस

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधिमंडल ने गुरुवार को उप मुख्य निर्वाचन अधिकारी जितेंद्र सिंह से मुलाकात कर उन्हें ज्ञापन सौंपा। पार्टी ने आरोप लगाया कि चम्पावत जिले में जिलाधिकारी और अपर जिलाधिकारी के रूप में सरकार ने चहेते अधिकारियों की तैनाती की है। कांग्रेस को इस पर सख्त आपत्ति है। उन्होंने जिलाधिकारी व अपर जिलाधिकारी का स्थानांतरण तत्काल प्रभाव से निरस्त करने की मांग की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

10 − 9 =

Back to top button