RBI द्वारा की गई ब्याज दरों में बढ़ोतरी ने जहां एक ओर लोन लेने वाले लोगों का बोझ बढ़ाया तो वहीं एफडी की ब्याज दरों में किया इजाफा

आरबीआई द्वारा की गई ब्याज दरों में बढ़ोतरी ने जहां एक ओर लोन लेने वाले लोगों का बोझ बढ़ाया है, तो वहीं एफडी की ब्याज दरों में इजाफा किया है। आरबीआई रेपो रेट बढ़ने के बाद कई फाइनेंस कंपनियां FD पर भारत की प्रमुख बैंकों के मुकाबले ज्यादा ब्याज दे रही हैं। कॉरपोरेट एफडी की इंटरेस्ट रेट 1.75 फीसद से 3 फीसद तक ज्यादा हैं। तो आइए जानते हैं कि आखिर कहां कितने फीसद ज्यादा ब्याज मिल रहा है।

कॉरपोरेट फाइनेंस कंपनियों द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी से ऐसे लोगों को ज्यादा फायदा मिलेगा, जो अपने रुपये को सेव करते हैं। एचडीएफसी, पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस और बजाज फाइनेंस जैसी कई फाइनेंस कंपनियों के फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) काफी लोकप्रिय हैं, क्योंकि इनकी ब्याज दरें काफी अच्छी हैं। इनके रेट बड़े बैंकों की तुलना में 1.75 से 3 फीसद तक ज्यादा हैं। रेपो रेट बढ़ने के बाद एचडीएफसी, पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस और बजाज फाइनेंस ने अलग-अलग टाइम पीरियड के लिए जमा रेट में 0.1 से 0.25 फीसद तक का इजाफा कर दिया है। 

एचडीएफसी, पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस और बजाज फाइनेंस

आपको बता दें कि HDFC ने 12 से 36 माह के लिए जमा रेट पर 0.2 फीसद का इजाफा किया है। साथ ही 36 से 120 महीनों के लिए 0.1 फीसद का इजाफा किया है। बजाज फाइनेंस ने एक से पांच साल की अवधि के लिए जमा रेट में 0.25 फीसद की बढ़ोतरी की है। वहीं, पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने 48 से 59 महीने के मैच्योरिटी टाइम पीरियड को छोड़कर सभी टाइम पीरियड के लिए रेट में 0.25 फीसद की बढ़ोतरी की है। वहीं, बजाज फाइनेंस 5 करोड़ रुपये तक पांच साल के टाइम पीरियड के लिए 7.20 प्रतिशत ब्याज दे रहा है। इसके अलावा एचडीएफसी पर 2 करोड़ से कम एफडी पर 5 से 10 साल की अवधि के लिए इंटरेस्ट रेट 5.75 प्रतिशत है। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

20 + 19 =

Back to top button