कनेक्टिविटी का केंद्र है मेरठ, अब औद्योगिक माहौल बनाए अधिकारी : सीएम योगी आदित्यनाथ

 विकास कार्यों और कानून व्यवस्था की कमिश्नरी सभागार में समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को मेरठ मंडल के जिलों में बेहतर माहौल बनाकर औद्योगिक निवेश बढ़ाने के लिए निर्देशित दिया। साथ ही जनप्रतिनिधियों से संवाद बनाए रखने और उनकी समस्याओं का प्राथमिकता से निस्तारण करने के लिए भी मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए। आईटीएमएस चौराहों को सेफ सिटी से जोड़कर महिला सुरक्षा पर ध्यान देने, लंबी रोग से पशुओं को बचाने, विभिन्न माध्यमों से प्राप्त होने वाली शिकायतों के समय से निस्तारण और आमजन को योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए भी मुख्यमंत्री ने विशेष रूप से अधिकारियों को निर्देशित किया।

कमिश्नरी सभागार में चली मैराथन समीक्षा बैठक
कमिश्नरी सभागार में चली मैराथन समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री का पूरा जोर आमजन के लिए चलाई जा रही सरकार की प्राथमिकता में शामिल योजनाओं का लाभ पहुंचाने पर रहा। मुख्यमंत्री ने मुख्य रूप से अधिकारियों को सड़कों से अतिक्रमण हटाने और अवैध वसूली करने वालों पर सख्त कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया। अधिकारियों को अपने कार्यालय में बैठकर जन सुनवाई करने और समस्याओं के प्राथमिकता से निस्तारण करने के साथ जनप्रतिनिधियों से संवाद बनाए रखने पर भी जोर दिया। समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिकारी जनप्रतिनिधियों द्वारा रखी गई समस्याओं का प्राथमिकता से निस्तारण करें और उन्हें समय से अवगत भी कराएं। मुख्यमंत्री ने बैठक में मौजूद हर जनप्रतिनिधि से अपने क्षेत्र को लेकर विकास कार्यों का प्रस्ताव भी मांगा। कई जनप्रतिनिधियों ने अपना प्रस्ताव मुख्यमंत्री के समक्ष प्रस्तुत किया। मुख्यमंत्री ने मंडल के सभी छह जनपदों के डीएम और एसएसपी से वर्चुअल माध्यम बात की और उनके द्वारा किए गए नवाचार का प्रस्तुतीकरण पांच मिनट में करने का समय भी दिया।
नवाचार मॉडल की सीएम ने की प्रशंसा
मेरठ डीएम द्वारा नवाचार के कई मॉडल प्रस्तुत किए गए जिन की प्रशंसा मुख्यमंत्री ने बैठक में की। मुख्यमंत्री ने कहा कि हिंडन नदी की पुरातन पहचान बनाने के लिए हर स्तर पर कार्य करना होगा, इसके लिए उन्होंने कमिश्नर सुरेंद्र सिंह से कार्ययोजना प्रस्तुत करने के लिए कहा। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि हिंडन को प्रदूषण मुक्त करना है, इसके लिए संबंधित जिलों को मिलकर प्रयास करना होगा। अधिकारी सुनिश्चित करें कि हिंडन में औद्योगिक कचरा किसी भी हाल में न गिराया जाए।
एक जिला एक उत्पाद पर जोर
मुख्यमंत्री का पूरा जोर एक जिला एक उत्पाद के माध्यम से औद्योगिक निवेश बढ़ाने पर रहा। उन्होंने मंडल के सभी जिलों के जिला अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि मेरठ अब कनेक्टिविटी का केंद्र बन चुका है, ऐसे में अधिकारी अपने स्तर से रुचि लें और औद्योगिक निवेश के लिए माहौल बनाएं। समय समीक्षा बैठक करीब 3 घंटे 45 मिनट तक चली। बैठक में जनप्रतिनिधियों ने भी अपनी बात को मुख्यमंत्री के समक्ष रखा। समीक्षा बैठक में कानून व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री ने सभी जिलों के एसएसपी को विशेष रूप से सतर्कता बरतने और माहौल खराब करने वालों पर सख्त कार्रवाई करने के लिए भी निर्देशित किया।

Tags : #industrialenvironment #UPCM #Adityanathyogi #meerut #connectivitycenter #CMYOGI #hindinews #

Rashtriya News 

Related Articles

Back to top button