होटल लेवाना सुईट में भीषण आग लगने के बाद घुटने लगा था दम, देखें फाेटो

हजरतगंज मदन मोहन मालवीय मार्ग स्थित होटल लेवाना सुईट में आज भीषण आग लग गई। करीब दो घंंटे तक फायर ब्रिगेड की टीम नहीं पहुंची। घंटो बाद पहुंचे दमकल कर्मियों का रेस्‍क्‍यू आपरेशन जारी है। अभी भी कई लोग फंसे बताए जा रहे हैं। हालांकि अभी तक दस लोगों को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दो लोगों की मौत भी हो चुकी है। जिसमें एक महिला और एक पुरुष शामिल हैं।

हालांकि आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है। मौके पर जिलाधिकारी मौजूद हैं। वहीं सिविल अस्‍पताल में मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ और डिप्‍टी सीएम ब्रजेश पाठक भी मरीजों का हाल जानने पहुंचे हैं। अस्‍पताल में मरीजों को देखने के बाद डिप्‍टी सीएम ब्रजेश पाठक होटल पहुंचे। हम आपको कुछ तस्‍वीरें साझा करने जा रहे हैं जिसमें आप मरीजों की हालत जान सकते हैं।

jagran

होटल लेवाना पर सुबह से भीड़ लगी है। रेस्‍क्‍यू आपरेशन जारी है। जिलाधिकारी सूर्यपाल गंगवार भी मौके पर पहुंचे हैं। सिविल अस्‍पताल में मरीजों को देखने के बाद डिप्‍टी सीएम ब्रजेश पाठक भी होटल पहुंचे।

jagran

फायर ब्रिगेड के चंंद्रेश कुमार भी रेस्‍क्‍यू के दौरान आग से झुलसे। उन्‍हें सिविल अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है।

jagran

होटल में रुकी मोना का कहना है कि वह दिल्‍ली से आई हैं। सुबह जब सोकर उठी तो देखा पूरे कमरे में धुआं भरा था। तीसरी मंजिल पर रुकी माेना किसी तरह कांच तोड़कर बाहर आईं। उन्‍हें सांस लेने में दिक्‍कत हो रही है

jagran

पर्यटकों के साथ-साथ होटल के कर्मचारी भी हादसे का शिकार हो गए हैं। कर्मचारी पूरी तरह से सदमे में है। अस्‍पताल में बेड खाली कराएं गए हैं।

jagran

नोएडा से आए अंश कौशिक ने बताया कि सुबह आठ बजे रूम में धुआं ही भरा था। बस किसी तरह जान बची है। खिड़की की मदद से हम सबको निकाला गया है। सांस लेने में दिक्‍कत आ रही है। आक्‍सीजन लगाया गया है।

होटल के सफाई कर्मचारी राज कुमार ने बताया कि सुबह साढ़े सात बजे की घटना है। लोगों को बचाने के लिए दौड़े उसी बीच हादसे की चपेट में आ गए।

jagran

फायर ब्रिगेड प्रदीप भी गंभीर रूप से घायल हुए हैं। वहीं होटल में तीसरे मंजिल पर चंद्रेश ने बताया कि धुएं की वजह से वह बेहोश हो गए। नाक में नली लगाई गई है। सांस लेने में समस्‍या हो गई है।

jagran

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button