खाद्य सुरक्षा विभाग ने मिलावट के खिलाफ की बड़ी कार्रवाई,प्लास्टिक ड्रम में रखा 500 किलो मिलावटी पनीर पकड़ा

खाद्य सुरक्षा विभाग ने शुक्रवार को दून में मिलावट के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की। विभागीय टीम ने दून व हरिद्वार में सप्लाई के लिए लाया गया निम्न गुणवत्ता का करीब 500 किलो पनीर पकड़ा है। इसका सैंपल लेकर रुद्रपुर स्थित लैब में भेजा गया है।

विभागीय टीम ने अल सुबह पांच बजे उपायुक्त गढ़वाल आरएस रावत और वरिष्ठ खाद्य सुरक्षा अधिकारी योगेंद्र पांडेय, रमेश सिंह व अधिकारी संजय तिवारी के नेतृत्व में नेहरू कालोनी क्षेत्र में छापेमारी की।

यहां टीम ने गोपाल डेयरी के पास एक मिल्क वैन को पकड़ा। जिसकी जांच करने पर इसमें प्लास्टिक के ड्रमों में अस्वच्छ स्थिति में पनीर रखा मिला। इनमें दो क्विंटल पनीर दून और तीन क्विंटल रुड़की में बंटी डेयरी पर सप्लाई होना था।

बताया गया कि पनीर की सप्लाई रामपुर, मनिहार सराय के शरीफ डेयरी फर्म से की गई थी, जिसके बिल पर इकबाल अहमद एवं इंशाद के हस्ताक्षर थे। वाहन चालक सुभाषचंद्र ने पूछताछ में बताया कि वहां मुर्तजा प्रधान उक्त पनीर बनवाता है और आस पास के इलाकों में शरीफ डेयरी के माध्यम से सप्लाई की जाती है। इन डेयरी के माध्यम से पनीर होटल, रेस्टोरेंट व अन्य जगह भेजा जाता है।

बता दें, पिछले माह मुर्तजा प्रधान का ही वाहन दून के आइटी पार्क क्षेत्र में पकड़ा गया था। जिसमें बरामद 180 किलो मिलावटी पनीर समीप ही डंपिंग जोन में ले जाकर नष्ट किया गया। पनीर में स्किम्ड मिल्क, मिल्क पाउडर, रिफाइंड आदि की मिलावट की बात चालक ने खुद कबूली थी।

करीब डेढ़ माह में दूसरी बार टीम ने उसी डेयरी से सप्लाई किया जा रहा 500 किलो मिलावटी पनीर पकड़ा है। वाहन में पनीर के दो एवं गोपाल डेयरी से एक सैंपल रुद्रपुर जांच के लिए भेजा गया है। वहीं बरामद मिलावटी पनीर को नष्ट कर दिया गया है।

इधर, एक अन्य टीम ने अभिहित अधिकारी पीसी जोशी के नेतृत्व में हनुमान चौक पर बाहर से आने वाले दूध की गाड़ि‍यों, विभिन्न डेयरी और मावा व्यापारियों की दुकानों पर छापेमारी की। इस दौरान दूध व मावे के पांच सैंपल लिए गए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

eighteen + 3 =

Back to top button