ड‍िप्‍टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने सपा अध्यक्ष अख‍िलेश यादव पर बोला हमला,कहा- आपके बहुत सारे लोग मेरे संपर्क में

उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को न तो माथे का टीका पसंद है और न कोरोना का टीका। अखिलेश ने कोरोना टीके का यह कहते हुए शुरू में विरोध किया था कि यह भाजपा का टीका है।

केशव ने अखिलेश को यह कहते हुए आगाह भी किया कि यदि आपके यहां फूट पड़ जाए तो हमारे ऊपर आरोप न लगाइएगा। आप अपने लोगों को संभालिए। आपके बहुत सारे लोग हमारे संपर्क में हैं। राज्यपाल के अभिभाषण पर पेश किए गए धन्यवाद प्रस्ताव का बुधवार को विधान सभा में समर्थन करते हुए केशव ने अखिलेश पर हमले की धार को तेज करते हुए कहा कि यदि सपा सरकार के काम इतने अच्छे होते तो आज आप सरकार में होते।

जनता ने तो आप का सूपड़ा साफ कर दिया। आपको दर्द है कि केशव मौर्य दूसरी बार कैसे उप मुख्यमंत्री बन गए? दरअसल आप पिछड़ों के हितैषी नहीं, विरोधी है। आप गरीबों के नहीं गुंडों और माफिया के संपर्क में थे। आपने जो साम्राज्य स्थापित किया था जनता ने उसे उखाड़ कर फेंक दिया है।

अखिलेश ने जब उप मुख्यमंत्री से उन पर लगे मुकदमों के भी बारे में बताने के लिए कहा तो केशव ने कहा कि मैंने हमेशा राष्ट्रवाद की लड़ाई लड़ी है। मेरे ऊपर कोई व्यक्गित मुकदमा नहीं है। यह भी बताने से नहीं चूके कि सपा सरकार में उप्र लोक सेवा आयोग भ्रष्टाचार आयोग बन गया था। आयोग के भ्रष्टाचार के खिलाफ अभ्यर्थियों के आंदोलन में वह बतौर जनप्रतिनिधि शामिल हुए तो सपा सरकार ने उन्हें मुख्य अभियुक्त बना दिया था। तब बिना कुछ दिए नौकरी नहीं मिलती थी लेकिन आज एक भी नौजवान आरोप नहीं लगा सकता कि पैसा देकर उसे नौकरी मिली है।

सपा सरकार में नकल माफिया का बहुत बड़ा गैंग पेपर लीक कराने और उसे बेचने का काम करता था। आप भरोसा रखिए एक-एक को अंदर किया जाएगा। सवाल उठाया कि जो पकड़े जा रहे हैं, वे कौन हैं? उनकी पृष्ठभूमि क्या है? उनका किस दल से रिश्ता-नाता है? केशव ने कहा कि मैंने हमेशा राष्ट्रवाद, गो रक्षा और हिंदुत्व के लिए लड़ाई लड़ी है और जीवन भर लड़ूंगा। उन्होंने सपा अध्यक्ष के कन्नौज के सांसद रहते वहां भाजपा कार्यकर्ता की हत्या का भी जिक्र किया।

केशव ने कहा कि मेरे पिताजी मुख्यमंत्री नहीं थे तो अखिलेश बोले कि मेरे पिताजी मुख्यमंत्री थे लेकिन उप मुख्यमंत्री बता दें कि यह और क्या काम करते थे। इस पर केशव ने कहा कि मैं चाय बेचता था, अखबार बांटता था, खेती करता था। फिर कहा कि आपको मेरी गरीबी का मजाक उड़ाना है तो उड़ा लीजिए। उन्होंने अखिलेश सरकार पर केंद्रीय योजनाओं में सबसे बड़ा बैरियर बनने का आरोप भी लगाया। यह कहते हुए कि यदि प्रधानमंत्री आवास बनते तो साइकिल पंक्चर हो जाती।

आप दूध में नींबू निचोड़ते हैं और हम डालते चीनी: अखिलेश यादव ने विधानसभा में भाजपा सरकार पर अंग्रेजों की फूट डालो औ राज करो नीति अपना कर विपक्ष को बांटने का आरोप लगाया तो केशव प्रसाद मौर्य ने भी उसी अंदाज में पलटवार किया। अपने और मुख्यमंत्री के रिश्तों पर अखिलेश के प्रहार का जवाब देते हुए अखिलेश से कहा कि आप दूध में नींबू डालकर उसे फाडऩा चाहते हैं और हम दूध में चीनी डालते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

three × 3 =

Back to top button