यहां जाने फेफड़ों के कैंसर की वजह और इसके लक्षण..

Lung Cancer Signs: फेफड़ों का कैंसर किसी को भी किसी भी उम्र में हो सकता है, लेकिन ज़्यादातर मामलों के पीछे कारण धूम्रपान ही होता है। स्टडी में पाया गया है कि वायु प्रदूषण की वजह से फेफड़ों का कैंसर हो सकता है। कैंसर रिसर्च यूके द्वारा फन्डिड फ्रांसिस क्रिक इंस्टीट्यूट और यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के वैज्ञानिकों ने पाया कि वायु प्रदूषण फेफड़ों के कैंसर सहित कई प्रकार के कैंसर के कारण मृत्यु दर के जोखिम को बढ़ा सकता है।

वायु प्रदूषण से बढ़ता है लंग कैंसर का ख़तरा

वैज्ञानिकों ने वायुजनित प्रदूषकों के लिए एक नए तंत्र की खोज की जो धूम्रपान न करने वालों में फेफड़ों के कैंसर का कारण बन सकता है। उन्होंने पाया कि जलवायु परिवर्तन से जुड़े कण भी वायुमार्ग की कोशिकाओं में घातक परिवर्तन को प्रेरित करते हैं, जिससे फेफड़ों के कैंसर की रोकथाम और उपचार के लिए नई रणनीतियों का द्वार खुल जाता है। उनका दावा है कि कण, जो आमतौर पर कार के एक्सॉस्ट और फॉसिल ईंधन के धुएं में मौजूद होते हैं, गैर-छोटे सेल फेफड़ों के कैंसर के उच्च जोखिम से जुड़े होते हैं।

हालांकि, स्मोकिंग की तुलना वायु प्रदूषण की वजह से फेफड़ों का कैंसर होने की संभावना ज़्यादा होती है, लेकिन फिर भी मानव स्वास्थ्य में सुधार के लिए जलवायु स्वास्थ्य पर ध्यान देना भी महत्वपूर्ण है।

फेफड़ों के कैंसर के लक्षण

कई देशों में फेफड़ों का कैंसर, कैंसर से होने वाली मौतों का सबसे बड़ा कारण बना हुआ है। इस तरह के कैंसर की शुरुआत फेफड़ों से शुरू होकर शरीर के दूसरे हिस्सों में फैल जाती है। फेफड़ों के कैंसर के लक्षणों पर आमतौर पर ध्यान नहीं जाता, लेकिन जितना जल्दी इसका पता चले, इलाज उतना ही आसान हो जाता है। आइए जानें फेफड़ों के कैंसर के लक्षणों के बारे में:

फेफड़ों के कैंसर के शुरुआती लक्षण:

  1. खांसी का बिगड़ना
  2. खांसी में बलगम निकलना
  3. घरघराहट
  4. कमज़ोरी
  5. भूख में बदलाव
  6. वज़न कम होना
  7. श्वासप्रणाली में संक्रमण
  8. सीने में दर्द जो सांस लेने पर बढ़ता है

फेफड़ों के कैंसर के देर से दिखने वाले लक्षण

आखिरी स्टेड में दिखते हैं ऐसे लक्षण

  • गर्दन या कॉलरबोन पर बम्प्स दिखना
  • हड्डियों में दर्द महसूस होना, विशेष रूप से कूल्हों, पसलियों या पीठ में
  • सिर दर्द
  • चक्कर आना
  • संतुलन की दिक्कत होना
  • हाथों और पैरों में झुनझुनाहट होना
  • पीलिया
  • सिकुड़ती हुई पुतलियां और एक पलक का झुकना
  • कंधों में दर्द
  • ऊपरी शरीर और चेहरे का बढ़ जाना

Related Articles

Back to top button