बांदा में खून से लाल हुईं जनपद की सड़कें, हादसों में चार ने गंवाई जान

जनपद में सड़क हादसे का थमने का नाम नहीं ले रहीं। नेशनल हाईवे समेत जिले की सभी सड़के आए दिन खून से लाल हो रही हैं। प्रशासन ने कई अभियान चलाए लेकिन सड़क दुर्घटनाओं में कमी नहीं आई। हादसे होने की सबसे बड़ी वजह यातायात के नियमों की अनदेखी व लापरवाही सामने आई है। ताजी घटनाओं में अलग-अलग सड़क हादसों में चार लोगों ने जान गवां दी। जबकि एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

राष्ट्रीय (आरएनएस )

तिंदवारी कस्बे के प्रेम नगर मुहल्ला निवासी रितिक (18) पुत्र श्रीपाल शुक्रवार की सुबह अपने साथी रवि (18) पुत्र उमेश गिरि निवासी गांधी नगर, अंशु (19) निवासी श्रीनगर के साथ फतेहपुर जा रहे थे। नेशनल हाइवे स्थित तिंदवारी से फतेहपुर मार्ग पर भुजरख मोड़ पर पहुंचे ही थे कि फतेहपुर की तरफ से आ रही तेज रफ्तार कार ने बाइक सवारों को टक्कर मार दी। हादसे में बाइक सवार रितिक व उसके दोस्त रवि की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि अंशू गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तिंदवारी में भर्ती कराया गया। हादसे के बाद चालक भिड़ौरा रोड में लगे मोबाइल टावर के पास अपनी कार खड़ी कर फरार हो गए। मृतक रितिक के चाचा रज्जन ने बताया कि वह शहर में मजदूरी करता था। जबकि रवि कस्बे में एक कपड़े की दुकान पर काम करता था। रितिक अपने पिता की इकलौती संतान था। अचानक हुए इस हादसे से मां गुडिय़ा समेत परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। रवि दो भाइयों में बड़ा था। प्रभारी निरीक्षक नरेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि कार चालक का पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है। तहरीर मिलने पर चालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की जाएगी। उधर, नरैनी कोतवाली क्षेत्र के मोतियारी गांव का मजरा कछियन पुरवा निवासी प्रमोद कुमार (18) पुत्र राकेश कुशवाहा गुरुवार शाम अपने बीमार पड़ोसियों का इलाज कराने कस्बा में आया था। रात को वह इलाज कराने के बाइक से घर लौट रहा था। अतर्रा रोड स्थित सीताराम समर्पण महाविद्यालय के समीप सामने से आ रहे अज्ञात वाहन ने उसे टक्कर मार दी। इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नरैनी में भर्ती कराया। तलाशी के दौरान प्रमोद की जेब से निकले मोबाइल नंबर पर घरवालों को सूचना दी। यहां उपचार के दौरान प्रमोद ने दम तोड़ दिया। मृतक के भाई अभिषेक ने बताया कि प्रमोद कामता प्रसाद शास्त्री डिग्री कालेज बदौसा में बीए द्वितीय वर्ष का छात्र था। एक अन्य घटना में देहात कोतवाली क्षेत्र के महोखर गांव के मजरा डांडिऩ पुरवा रामऔतार (52) पुत्र दिरपाल अपने भतीजे वीरेंद्र (29) पुत्र रामखेलावन के साथ भैयादूज पर्व पर अपनी बहन के यहां तिलक कराने प्रेमपुर (गिरवां) गया था। रात को बाइक से लौटते समय बांदा-टांडा नेशनल हाइवे स्थित शहर कोतवाली क्षेत्र के मंडी समिति के पास सामने से आ रहे अज्ञात वाहन ने उनकी बाइक में टक्कर मार दी, जिससे दोनो लोग घायल हो गए। दोनो को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद रामऔतार को कानपुर रेफर कर दिया। परिजन उसे लेकर कानपुर जा रहे थे, तभी रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। मृतक किसानी के अलावा मजदूरी भी करता था। मृतक के भांजे मोहन ने बताया कि रामऔतार के कोई संतान नहीं है। उसने मोहन को गोद ले रखा था।
धनतेरस में श्रीपाल ने खरीदी थी बाइक
तिंदवारी के पास कार की टक्कर से बाइक सवार युवक रितिक और रवि की मौत हो गई। दोनो परिवारों में मातम छाया हुआ है। मृतक के रितिक के पिता ने बताया कि वह उसका इकलौता पुत्र था। उसके चार बेटी भी हैं। धनतेरस में ही बेटे रितिक की जिद पर नई बाइक खरीदी थी। उसे क्या मालुम था कि यह बाइक उसके बेटे की मौत का कारण बन जाएगी।
चैबीस घंटे में हुईं छह मौतें
पिछले चैबीस घंटों में सड़क हादसों में छह युवकों की जान चली गई। वाहन तेज रफ्तार दौड़ाना जानलेवा साबित हो रहा है। बावजूद इसके लोग धीमी गति से नहीं चल रहे। अतर्रा के समीप गुरुवार को क्रेन मशीन की चपेट में आने से चाचा और भतीजे की मौत हो गई थी। जबकि तीन अन्य सड़क हादसों में दो दोस्तों समेत चार युवकों की मौत हो गई। इन हादसों से मृतक परिवारों में कोहराम मचा हुआ है।

Tags : #AccidentNews #UPNews #UttarPradesh #DistrictBanda #RoadAccident #Deaths #Hindinews

Rashtriya News

Related Articles

Back to top button