उपकप्तान केएल राहुल ने दिया बड़ा बयान, कहा इन खिलाडियों के बीच नेट्स में खेलना बहुत मुश्किल

2018 के बाद से भारत के तेज गेंदबाजी लाइनअप में काफी सुधार आया है। टेस्ट क्रिकेट में जसप्रीत बुमराह का उभरना और मोहम्मद शमी के साथ नई गेंद से जबरदस्त गेंदबाजी करना भारत के लिए विदेशी धरती पर अच्छा प्रदर्शन करने का आधार रहा है। जब बुमराह ने पहली पारी में ज्यादा गेंदबाजी नहीं की तो ऐसे में शमी पेस अटैक की जिम्मेदारी संभाली और 5 विकेट अपने नाम किए। इसी वजह से दक्षिण अफ्रीका की टीम पहली पारी में 197 रनों पर ढेर हो गई।

वहीं, दूसरी पारी में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सुपरस्पोर्ट पार्क में भारत की पहली टेस्ट जीत दर्ज करने के लिए बुमराह और शमी ने महत्वपूर्ण सफलताएं लेने के साथ बेहतरीन गेंदबाजी की। इसी वजह से केएल राहुल ने भी टीम इंडिया के पेस अटैक की सराहना की। तेज गेंदबाजों को लेकर केएल राहुल ने भी माना कि भारतीय टीम भाग्यशाली है कि उन्हें प्रशिक्षण सत्र में अपनी बल्लेबाजी टीम के साथियों को ऐसे गेंदबाजों का सामना करने को मिला।

केएल राहुल ने कहा, “यह बहुत अच्छी बात है, लेकिन उनके खिलाफ नेट्स में खेलना बहुत मुश्किल है, क्योंकि मेरे और कुछ अन्य बल्लेबाजों के लिए यह आसान नहीं होता। वहां भी ये बेहतर गेंदबाजी करते हैं। सभी तेज गेंदबाज बहुत प्रतिस्पर्धी खिलाड़ी हैं और हम बहुत भाग्यशाली हैं कि हमारी गेंदबाजी लाइनअप में ऐसी गुणवत्ता है। दो से तीन खिलाड़ी और हैं जो बाहर बैठे हैं। उन्होंने भी खुद को शानदार तेज गेंदबाज के रूप में साबित किया है, जिनमें इशांत शर्मा और उमेश यादव का भी नाम शामिल है।

टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक ले चुके जसप्रीत बुमराह इस प्रारूप में एक असाधारण गेंदबाज रहे हैं। चौथे दिन उन्होंने दो ऐसी सफलताएं लीं, जिसने क्रिकेट की दुनिया को चौंका कर रख दिया, जिसमें रासी वैन डर दुसें और केशव महाराज को बोल्ड करना था। उन्होंने कहा, “मैं जसप्रीत बुमराह के क्रिकेट खेलने तक मैदान में रहना पसंद करूंगा। वहीं, शमी ने भी वास्तव में बेहतर गेंदबाजी की है। इनके साथ सिराज ने भी कमाल करके दिखाया है।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

11 + ten =

Back to top button