ब्रिटिश प्रधानमंत्री ऋषि सुनक के भाषण के दौरान देखा गया कलावा..

Rishi Sunak को हमेशा ही अपने हिंदू होने पर गर्व रहा है। सुनक ने हिंदू पवित्र पुस्तक भगवद गीता पर एक विधायक के रूप में शपथ ली थी। दिवाली हो या कोई भी हिंदू त्योहार उन्हें हमेशा अपनी पत्नी अक्षता के साथ मंदिर में पूजा करते हुए देखा गया हैं।

 भारतीय मूल के हिंदू प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने ब्रिटेन की सत्ता संभाल ली है। भले ही वे ब्रिटिश प्रधानमंत्री हो लेकिन उनकी धार्मिक जड़ें अभी भी भारत से जुड़ी हुई है। कंजर्वेटिव पार्टी के नेता ने न केवल अपना बल्कि भारत का भी मान बढ़ाया है।

यूके के पीएम के रूप में कार्यभार संभालने के दौरान उनकी एक भारतीय होने की छवि भी सामने देखी गई। ऋषि के 10 डाउनिंग स्ट्रीट में प्रवेश करने के दौरान हर एक भारतीय की नजर एक चीज पर टीक गई। प्रधानमंत्री के रूप में अपना पहला संबोधन देते वक्त उनके हाथ में पवित्र लाल हिंदू कलावा धागा पहने हुए देखा गया। इससे ये प्रतीत होता है कि सनुक को अपने हिंदू होने पर कितना गर्व है।

भाषण के दौरान देखा गया कलावा

ऋषि सुनक भाषण के दौरान वहां मौजूद लोगों का अभिवादन कर रहे थे और तभी उनके हाथ में कलावा देखा गया। बता दें कि कलावा को हिंदू धर्म में बहुत ही पवित्र माना जाता है। हिंदू धर्म के अनुसार, हाथ में कलावा बांधना एक रक्षा सूत्र की तरह काम करता है और ये दर्शाता है कि शत्रु के सामने विजयी प्राप्त हुई।

ऋषि सुनक ने रचा इतिहास

42 वर्षीय ऋषि सुनक ने ब्रिटेन के पीएम का पद संभालते ही इतिहास रच दिया है। वह पहले हिंदू प्रधानंमत्री के साथ-साथ सबसे कम उम्र के प्रधानमंत्री भी बन गए है। मंगलवार को वह किंग चार्ल्स III से मिले और शपथ ली। सुनक ने अपने भाषण में कहा कि उनकी सरकार हर स्तर पर सत्यनिष्ठा, व्यावसायिकता और जवाबदेही होगी।

ऋषि सुनक की हिंदू पहचान

  • ऋषि सुनक ने हमेशा भारतीय होने की पहचान पेश की। 2017 के आम चुनावों के बाद, सुनक ने हिंदू पवित्र पुस्तक भगवद गीता पर एक विधायक के रूप में शपथ ली थी।
  • ऋषि सुनक ने गर्व के साथ अपनी हिंदू पहचान की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि “मैं अब ब्रिटेन का नागरिक हूं। लेकिन मेरा धर्म हिंदू है। मेरी धार्मिक और सांस्कृतिक विरासत भारतीय है। मैं गर्व से कहता हूं कि मैं हिंदू हूं और मेरी पहचान भी हिंदू है।
  • इस साल अगस्त में, ऋषि सुनक ने जन्माष्टमी पर अपनी पत्नी अक्षता के साथ एक मंदिर का दौरा किया था। ऋषि सुनक ने इंस्टाग्राम पर अपनी तस्वीरें भी पोस्ट की थी।
  • हिंदू सांसद को ब्रिटेन में रहने वाले भारतीय भी काफी पसंद करते है। एक बार उन्होंने दन में अपनी पत्नी के साथ गौ पूजा की थी। दंपति को गाय की पूजा करते और आरती करते देखा गया था।
  • ऋषि सुनक नियमित रूप से हैम्पशायर में मंदिर जाते हैं। इंडिपेंडेंट की एक रिपोर्ट के अनुसार, साउथेम्प्टन में वैदिक सोसाइटी हिंदू मंदिर की स्थापना ऋषि सुनक के दादा, रामदास सुनक ने 1971 में अपने पिता यश के साथ एक ट्रस्टी के रूप में की थी।

Related Articles

Back to top button