सिरफिरे आशिक की खून से रंगी ये प्रेम कहानी,अपने ही हाथों से प्रेमिका काे चाकू मार उतारा मौत के घाट

घाटमपुर साढ़ से जहानाबाद कोचिंग गई युवती का कत्ल करने वाला कोई और बल्कि उसका सिरफिरा आशिक निकला। वारदात को अंजाम देने में दोस्त और उसकी मां मददगार बनीं। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार किया तो सिरफिरे आशिक का कबूलनामा सुनकर सभी दंग रह गए। उसने जुर्म स्वीकार करते हुए बताया कि वह प्रेम करता था लेकिन वह दूसरे लड़कों से भी फोन पर बात करती थी। ये उसे बर्दाश्त नहीं था, कई बार मना करने के बाद भी आदत नहीं सुधरी तो उसने प्यार का कत्ल कर दिया।

क्या हुई थी वारदात : कानपुर नगर के साढ़ थाना क्षेत्र के गांव में रहने वाले शिक्षक की 19 वर्षीय पुत्री बीए तृतीय वर्ष की छात्रा थी और बीएड (बैचलर आफ एजुकेशन) प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रही थी। उसने 5 मई 2022 को जहानाबाद स्थित एक कोचिंग ज्वाइन की थी और प्रतिदिन साइकिल से पढ़ने जाती थी। 30 मई को सुबह आठ बजे वह कोचिंग पढ़ने गई, इसके बाद जंगल में उसका शव मिला था। कपड़े अस्तव्यस्त थे और चाकू से गोदकर बेरहमी से हत्या की गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में चाकू से 40 से ज्यादा बार शरीर पर वार करने के निशान मिलने की पुष्टि हुई थी। 

छोटी बहन से पूछताछ में मिला था सुराग : छोटी बहन से पूछताछ में पुलिस को प्रेमी से जुड़ा सुराग मिला था। छोटी बहन ने बताया था कि दीदी को एक लड़का परेशान करता था। वह अक्सर फोन करके बात करने के लिए कहता था लेकिन दीदी उससे बात नहीं करती थीं। दीदी ने सका फोन नंबर ब्लाक पर डाल दिया था। इसके बाद वह वाट्सएप की प्रोफाइल फोटो निकालकर वायरल करने की धमकी देता था। उस दिन वह भी दीदी के साथ गई थीं तो वह पीछा करता दिखा था। वह अपने स्कूल चली गई थी और दीदी आगे कोचिंग के लिए चली गई थीं।

पुलिस ने शुरू कर दी थी उसकी तलाश : पूछताछ में छोटी बहन ने जिस युवक की जानकारी दी थी, पुलिस ने उसकी तलाश शुरू कर दी। उसके बारे में सभी जानकारियां भी जुटाईं तो हत्या से उसका कनेक्शन स्पष्ट हो गया था। इसके बाद पुलिस ने उसकी तलाश शुरूकी थी। इसके बाद सीओ योगेंद्र मलिक के नेतृत्व में टीम ने हत्यारोपित शीलू उर्फ अजय सोनकर, दोस्त छोटू उर्फ अवनीश सोनकर और दोस्त की मां माया देवी निवासी द्वारिकापुर जहानाबाद को गिरफ्तार कर लिया।

सिरफिरे आशिक ने कबूली वारदात : पुलिस की पूछताछ में सिरफिरे आशिक ने युवती की हत्या करना कबूल किया। 30 मई 2022 को जब वह जहानाबाद की कोचिंग में पढ़ने आई थी तो 10 बजे फोन करके उसे बाहर बुलाया। फिर बाइक पर बिठाकर कुछ दूर खैराबाद स्थित यूकेलिप्टस के बगीचे में ले गया। शीलू ने पुलिस को बताया कि बाग में पहले उससे दुष्कर्म किया फिर पीछे से पकड़कर चाकू से गला रेत दिया था। इसके बाद ब्लेड और चाकू से शरीर पर कई वार किए थे। मौत होने के बाद उसने दोस्त की मां माया देवी को खून से सने कपड़े धुलने के लिए दिए और एक्सीडेंट में घायल होने की बात कही। इसके बाद दोस्त छोटू उर्फ अवनीश से फोन पर बात करके पल-पल की जानकारी लेता रहा।

बर्दाश्त नहीं था प्रेमिका का दूसरे लड़कों से बात करना : उसने पुलिस को बताया कि प्रेमिका दूसरे लड़कों से बात करती थी, जो उसे कतई बर्दाश्त नहीं था। इसके लिए मैंने उसे कई बार मना भी किया था। इतना ही नहीं दूसरे लड़के से बात करने के दौरान उसका मोबाइल फोन छीनकर तोड़ भी दिया था। उसकी आदत नहीं सुधरी तो उसे घाटमपुर स्थित देवी मंदिर ले गया था, वहां पर उसने अपने भाई व स्वजन की कसम भी खाई थी कि अब वह दूसरे किसी लड़के से बात नहीं करेगी। इसके बाद फिर वह लड़कों से बात करने लगी। नाराज होकर उसने खुद तीन माह पूर्व डाई पीकर जान देने का प्रयास किया था। इसके बावजूद वह नहीं मान रही थी, इस वजह से प्यार का कत्ल कर दिया। वह केरल के कासरगुड कुट्टीपुर स्थित एक रेस्टोरेंट में खाना बनाने का काम करता था और वारदात को अंजाम देकर वह वहीं चला गया था। कुछ दिन बाद आया तो पुलिस ने उसे पकड़ लिया।

छात्रा के अन्य लड़कों से बात करने से नाराज होकर शीलू उर्फ अजय सोनकर ने दुष्कर्म के बाद चाकू व ब्लेड से हत्या कर दी थी। मुख्य हत्यारोपित पर एनएसए (राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम) व गैंगस्टर एक्ट की कार्रवाई की जाएगी। घटना को जानने के बाद उसे छिपाने में हत्यारोपित के दोस्त व एक महिला पर साक्ष्य मिटाने का मुकदमा दर्ज कर तीनों को जेल भेजा जा रहा है। सामूहिक दुष्कर्म की धारा हटाकर अब दुष्कर्म के बाद हत्या की धारा लगाई जाएगी। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

3 × 1 =

Back to top button