सरिता आर्य की नाराजगी, कहा-शीर्ष नेतृत्व उन्हें ही देगा नैनीताल सीट का टिकट

विधानसभा चुनाव में नैनीताल सीटे पर टिकट आवंटन से पूर्व ही कांग्रेस पार्टी में खींचतान शुरू हो गयी है। कैबिनेट मंत्री यशपाल और विधायक संजीव आर्य की वापसी के बाद नैनीताल सीट पर संजीव को टिकट मिलने की संभावना पर पूर्व विधायक सरिता आर्य पूर्व में पार्टी छोड़ने का ऐलान कर चुकी हैं। इसके बाद पिछले सप्ताह ही यशपाल ने स्वराज आश्रम में उन्हें  मनाया था। पर एक बार फिर विरोधी सुर सामने आने लगे हैं।

सरिता आर्य ने ऐलान किया है कि शीर्ष नेतृत्व से नैनीताल सीट पर उन्हें ही टिकट दिए जाने का आश्वासन दिया गया है। अभी टिकट आवंटन में कुछ समय शेष है। यदि नैनीताल सीट पर उन्हें टिकट नहीं दिया गया तो वह विरोध करने से भी पीछे नहीं हटेगी। उन्होंने यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी द्वारा यूपी में महिलाओं के लिए 40 फीसदी सीटें करने के फैसले का स्वागत करते हुए उत्तराखंड में भी इसे लागू करने की मांग की है। गुरुवार को पूर्व विधायक सरिता आर्य ने मल्लीताल क्षेत्र में पत्रकार वार्ता की। इस दौरान उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी द्वारा यूपी में विधानसभा चुनाव में महिलाओं के लिए 40 फ़ीसदी सीटें आरक्षित करने का फैसला लिया है। जिसका महिला प्रदेश अध्यक्ष होने के नाते वह स्वागत करती हैं।

कहा कि पूर्व में राष्ट्रीय अध्यक्षा सोनिया गांधी द्वारा भी चुनाव में महिलाओं को 33 फीसदी सीटें दिए जाने की मांग को प्रमुखता से रखा था। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में भी यूपी की तर्ज पर महिलाओं को चुनाव में 40 फीसदी आरक्षण दिया जाना चाहिए। जिससे राजनीतिक क्षेत्र में भी महिलाओं की स्थिति सशक्त हो सके। नैनीताल सीट के टिकट आवंटन को लेकर सरिता आर्य ने कहा कि लंबे समय से वह नैनीताल सीट पर चुनाव की तैयारियों में जुटी हुई है। शीर्ष नेतृत्व द्वारा उन्हें ही नैनीताल में टिकट दिए जाने का आश्वासन दिया गया है। हालांकि टिकट आवंटन को अभी काफी समय शेष है। उन्हें पूर्ण विश्वास है कि नैनीताल सीट पर शीर्ष नेतृत्व द्वारा उन्हें टिकट दिया जाएगा। यदि उन्हें शीर्ष नेतृत्व द्वारा टिकट नहीं दिया गया तो वह विरोध करने पर भी विचार कर सकती हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − 4 =

Back to top button