पुतिन यूक्रेन में जंग जीतने के लिए उठा सकते हैं ये बड़ा कद

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन यूक्रेन पर आक्रमण में मदद के लिए उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन की ओर रुख करने पर विचार कर रहे हैं. रूस में रिपोर्टों के अनुसार पुतिन किम जोंग को 1,00,000 सैनिकों के बदले में ऊर्जा और अनाज की पेशकश करने को तैयार हैं. 

उत्तर कोरिया सैनिकों को भेजने के लिए तैयार

एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक, उत्तर कोरिया ने ‘राजनयिक चैनलों’ के माध्यम से यह स्पष्ट कर दिया है कि वह युद्ध में रूस की मदद के लिए तैयार है. उत्तर कोरिया ने कहा है कि मास्को के पक्ष में एक विशाल लड़ाकू बल यूक्रेन भेजने के लिए हम तैयार हैं. उन्हें डोनेट्स्क पीपुल्स रिपब्लिक (डीपीआर) और लुहान्स्क पीपुल्स रिपब्लिक (एलपीआर) की सेना में तैनात किया जाएगा. दोनों को किम जोंग ने हाल ही में स्वतंत्र देशों के रूप में मान्यता दी है. 

क्रेमलिन समर्थक न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट में कहा गया है कि उत्तर कोरिया अपने 1,00,000 सैनिकों को डोनबास में स्थानांतरित करने के लिए तैयार है.  बदले में किम की त्रस्त अर्थव्यवस्था को अनाज और ऊर्जा की आपूर्ति की जाएगी. मॉस्को में एक प्रमुख रक्षा विशेषज्ञ रिजर्व कर्नल इगोर कोरोटचेंको ने कहा कि हमें किम जोंग उन द्वारा हमारे लिए बढ़ाए गए हाथ को स्वीकार करने में संकोच नहीं करना चाहिए. 

रोसिया 1 चैनल पर रूस की राष्ट्रीय रक्षा पत्रिका के प्रधान संपादक कोरोटचेंको ने कहा कि ऐसी खबरें हैं कि 1,00,000 उत्तर कोरियाई स्वयंसेवक जंग में भाग लेने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा कि उत्तर कोरियाई लोग लचीले हैं और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि वे प्रेरित हैं. उन्होंने कहा कि हमें किम जंग उन द्वारा हमें दिए गए हाथ को स्वीकार करने में शर्म नहीं करनी चाहिए.

बता दें कि रूस और यूक्रेन के बीच जंग को 6 महीने से ज्यादा का समय हो गया है. 24 फरवरी को रूस के हमले के साथ यूक्रेन में युद्ध की शुरुआत हुई थी. जंग में जीत हासिल करने के लिए रूस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है, इन्हीं वजहों से अब रूस उत्तर कोरिया की मदद लेने पर विचार कर रहा है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

five − four =

Back to top button