पंजाब-हरियाणा के अधिकांश इलाकों में कड़ाके की ठंड जारी

शीत लहर और घने कोहरे के साथ नए साल 2023 का आगाज हुआ है। पहाड़ से लेकर मैदानी इलाकों तक में ठंड का सितम जारी है। कश्मीर और उत्तराखंड के पहाड़ों पर जमकर बर्फबारी हो रही है। पर्यटकों की यात्रा में चार चांद लग गई है। हालांकि, इसका असर मैदानी इलाकों में भी देखने को मिल रहा है। कहीं ठंडी हवाएं चल रही हैं। वहीं, कई इलाकों में कुहासे का असर दिख रहा है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक, मध्य प्रदेश के कुछ जिलों में घना कोहरा छाए रहने की संभावना है। वहीं, पंजाब और हरियाणा के अधिकांश इलाकों में कड़ाके की ठंड जारी है।

मध्यप्रदेश में अगले 24 घंटों के दौरान नए साल के अवसर पर छह जिलों में घना कोहरा छाये रहने की संभावना है, जबकि तीन जिलों में मध्यम कोहरा छाया रह सकता है। भारत मौसम विज्ञान विभाग के भोपाल कार्यालय के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी एन पी मेश्राम ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि इसके अलावा, प्रदेश के कई भागों में ठंड पड़ने की संभावना भी है क्योंकि कई जिलों में आगामी 24 घंटों में न्यूनतम तापमान में औसतन तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट आ सकती है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में शनिवार को सबसे कम न्यूनतम तापमान आठ डिग्री सेल्सियस नौगांव और रीवा में दर्ज किया गया। मौसम विभाग के मुताबिक, रविवार सुबह तक भिंड, मुरैना, श्योपुर, शिवपुरी, ग्वालियर एवं दतिया जिलों में कहीं-कहीं पर मध्यम से घना कोहरा छाये रहने की संभावना है। उन्होंने कहा कि छतरपुर, टीकमगढ़ एवं निवाड़ी जिलों में कहीं-कहीं पर मध्यम कोहरा छाया रह सकता है।

पंजाब, हरियाणा में कड़ाके की ठंड, बठिंडा रहा सबसे ठंडा स्थान
पंजाब और हरियाणा के कई हिस्सों में शनिवार को कड़ाके की ठंड रही और राज्यों में घने कोहरे के कारण दृश्यता का स्तर कम रहा। मौसम विभाग के अनुसार बठिंडा पंजाब में सबसे ठंडा स्थान रहा जहां न्यूनतम तापमान 3.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अमृतसर में भी रात में न्यूनतम तापमान 4.3 डिग्री दर्ज किया गया, जबकि गुरदासपुर, मुक्तसर और नवांशहर में न्यूनतम तापमान क्रमश: 5.4 डिग्री, 4.7 डिग्री और चार डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

Related Articles

Back to top button