जनपद पुलिस को मिली बड़ी सफलता नकली शराब का भंडाफोड़

विधानसभा चुनाव के पहले सोनभद्र पुलिस को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है । पुलिस उप महानिरीक्षक/पुलिस अधीक्षक अमरेन्द्र प्रसाद सिंह के निर्देश पर पूरे जनपद में अवैध शराब के खिलाफ चलाया जा रहे अभियान के तहत बीती रात थाना राबर्ट्सगंज पुलिस ,स्वाट टीम ,एसओजी सर्विलांस टीम व जिला आबकारी टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी जब मुखबिर की सूचना पर एक गाड़ी से भारी मात्रा के नकली शराब के साथ एक 20 हजार के इनामिया आरोपी के साथ चार शराब तस्करों को गिरफ्तार किया। सभी आरोपियों को चुर्क तिराहे के छपका मोड़ के पास से पकड़ा गया।

विधानसभा चुनाव के पहले सोनभद्र पुलिस को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है । पुलिस उप महानिरीक्षक/पुलिस अधीक्षक अमरेन्द्र प्रसाद सिंह के निर्देश पर पूरे जनपद में अवैध शराब के खिलाफ चलाया जा रहे अभियान के तहत बीती रात थाना राबर्ट्सगंज पुलिस ,स्वाट टीम ,एसओजी सर्विलांस टीम व जिला आबकारी टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी जब मुखबिर की सूचना पर एक गाड़ी से भारी मात्रा के नकली शराब के साथ एक 20 हजार के इनामिया आरोपी के साथ चार शराब तस्करों को गिरफ्तार किया। सभी आरोपियों को चुर्क तिराहे के छपका मोड़ के पास से पकड़ा गया।

वही इस मामले का खुलासा करते हुए पुलिस उप महानिरीक्षक / एसपी सोनभद्र अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि विधानसभा चुनाव के मद्देनजर लगातार अवैध मादक पदार्थों के खिलाफ टीम बनाकर कार्यवाही की जा रही है जिसके तहत रावर्ट्सगंज कोतवाली पुलिस ,स्वाट टीम ,एसओजी ,सर्विलांस टीम व आबकारी टीम को सूचना मिली कि चुर्क तिराहे छपका मोड़ के पास कुछ व्यक्ति ग्राम गेंगुआर स्थित एक मकान के सामने खड़ी एक गाड़ी में नकली शराब बनाकर बेचने के लिए ले जाने की फिराक में है । सूचना पर मौके पर पहुंचे तो देखा गया कि दो व्यक्ति एक कार में अगली सीट पर बैठे थे।


जिनके पास से गाड़ी मे पिछली सीट पर रखी दो पेटी अपमिश्रित शराब 90 सी.सी. बरामद हुई तथा बगल में स्थित घर के अन्दर जाकर देखा गया तो दो व्यक्ति एक कमरे मे बड़ी मात्रा में शराब बनाने का कार्य कर रहे है। जिनके पास से 560 लीटर स्प्रीट शराब को तीव्र करने के लिए यूरिया रंग सीसी, ढक्कन बरामद हुआ। गिरफ्तार अभियुक्तों ने पूछताछ में बताया कि हम लोग चार व्यक्ति मिलकर नकली शराब बनाकर
बेचने का कारोबार करते हैं ।

चुनाव आ गया है शराब की काफी डिमाण्ड हो रही है अतः हम लोग इसी घर में शराब बनाकर इसी गाड़ी से बेचने के लिए जा रहे थे। यह मकान अकेले मे पड़ता है इधर कोई आता जाता नही है। इसमें कम लागत मे ज्यादा मुनाफा होता है उसको आपस में बांट लेते हैं। आरोपी अंकित जायसवाल ने बताया कि वह अपमिश्रित शराब बनाने व
बेचने मे थाना घोरावल मे वांछित चल रहा है। जिस पर 20,000/- रुपये का ईनाम भी घोषित है।

Related Articles

Back to top button