अपने मुहल्ले को अराजक तत्वों से बचाये-सिराजउद्दीन  

इधर कुछ सालों से यह देखने और सुनने में आ रहा है, कि कुछ अराजक तत्व जुमे की नमाज़ और मस्जिद को बदनाम करने की कोशिश में लगे हुए हैं। इसके गलत प्रचार-प्रसार में इलेक्ट्रानिक मीडिया के कुछ लोग भी भागीदार बन रहे हैं। इसलिए शहर की तमाम मस्जिदों के जिम्मेदारान एवं इमामों से अपील है,कि वह साप्ताहिक जुमे की नमाज़ के समय इस बात का खास ख्याल रखें कि नमाज़ के बाद नमाज़ी मस्जिद के बाहर भीड़ न लगाएं। 

उक्त बातें मंगलवार को मौलाना अली मियां नदवी फाउंडेशन के अध्यक्ष सिराजउद्दीन ने किया। उन्होंने ने कहा पिछले जुमा में कई ज़िलों में जो अराजकता हुई वह बहुत निंदनीय है,और कुछ जगहों पर यह भी देखने में आया है कि मस्जिद के बाहर नमाजियों के बीच कुछ अराजक तत्वों ने शामिल होकर माहौल को पूरी तरह बिगाड़ने की कोशिश की थी। मस्जिद इबादत की जगह है, जहां तमाम मुसलमान दिन में पांच बार नमाज़ पढ़कर अपने घर खानदान के अलावा मुल्क में अमन शांति व खुशहाली की दुआएं करते हैं। मस्जिद के बाहरी हिस्से की भी हिफाज़त करते हुए उसे विरोध प्रदर्शन की जगह न बनने दें। उन्होंने अंत में उत्तर प्रदेश सरकार से अपील किया के बुलडोजर अराजक तत्वों को कितना नुकसान पहुंचा रहा है, यह तो पता नहीं, लेकिन इससे समाज दो हिस्सों में बट रहा है। इसलिए इस पर पुनः विचार करें और कोई ऐसा फैसला लिया जाए जिससे समाज को टूटने से बचाया जा सकें और साथ ही समाज से अराजक तत्वों का सफाया भी हो सके।

Rashtriya News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

9 − three =

Back to top button