भारतीय गेहूं को अफगानिस्तान जाने का रास्ता देने के लिए पाकिस्तान हो गया तैयार,अंतरराष्ट्रीय समुदाय से किया ये अनुरोध

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने शुक्रवार को कहा कि वे अफगानिस्तान (Afghanistan) की उस अपील पर विचार करने के लिए तैयार हैं, जिसमें उसने पाकिस्तान के रास्ते भारतीय गेहूं मंगाने की अनुमति मांगी है। इसके साथ ही उन्होंने मानवीय संकट का सामना कर रहे युद्धग्रस्त देश के लोगों की मदद के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय से सामूहिक जिम्मेदारी निभाने का भी अनुरोध किया है।

पाकिस्तान दौरे पर अफगान के कार्यवाहक विदेश मंत्री 

अफगानिस्तान के कार्यवाहक विदेश मंत्री आमिर खान मुत्तकी की यात्रा के दौरान इमरान की यह टिप्पणी सामने आई है। मुत्तकी अपने पहले विदेश दौरे पर पाकिस्तान आए हैं। उनके साथ 20 सदस्यीय उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल भी आया है। इमरान ने कहा, हम अपने अफगान भाइयों के उस अनुरोध पर विचार करेंगे, जिसमें उन्होंने पाकिस्तान होकर भारतीय गेहूं जाने देने की अनुमति मांगी है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान मानवीय आधार पर विशेष परिस्थितियों में इस अनुरोध पर विचार करने के लिए तैयार है।अफगानिस्तान की मदद करता रहा है भारत

अफगान जनता की मानवीय जरूरतों को देखते हुए भारत अफगानिस्तान की मदद करता रहा है। इसमें पिछले एक दशक के दौरान 10 लाख टन गेहूं की सहायता भी शामिल है। पिछले साल भी भारत ने अफगानिस्तान को 75,000 टन गेहूं दिया था।

15 अगस्त को तालिबान हुआ था काबिज 

विदेशी सैनिकों वापसी के साथ ही 15 अगस्त को अफगानिस्तान की सत्ता पर तालिबान पूरी तरह काबिज हो गया। 

किसी के खिलाफ अपनी जमीन का इस्तेमाल नहीं होने देगा अफगानिस्तान

अफगानिस्तान के विदेश मंत्री आमिर खान मुत्तकी ने शुक्रवार को कहा कि तालिबान सरकार यह सुनिश्चित करने का हरसंभव प्रयास कर रही है कि उसकी जमीन का इस्तेमाल किसी अन्य देश के खिलाफ न किया जाए। इस्लामाबाद के सामरिक अध्ययन संस्थान में एक सेमिनार को संबोधित करते हुए मुत्तकी ने कहा कि अफगानिस्तान की जमीन का इस्तेमाल पाकिस्तान के खिलाफ नहीं किया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × two =

Back to top button