सुल्तानपुर में पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर सड़क बैठने पर सियासत

योगी-1 के ड्रीम प्रॉजेक्ट में पूर्वांचल एक्सप्रेस वे एक रहा। लेकिन जिस तरह बरसात में बार-बार ये बैठ रहा उससे कार्य के गुणवत्ता पर सवाल खड़े हो रहे। गुरुवार रात कि.मी 83 पर 15 फीट चैड़े गड्ढे पर सियासत गर्म हो गई है। उ.प्र कांग्रेस के बाद अब आप सांसद संजय सिंह ने सरकार पर तंज कसा है। आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता व राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने ट्विटर वार करते हुए कहा कि महेश भट्ट की फिल्म सड़क का पोस्टर और दूसरी ओर पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के गड्ढे की तस्वीर लगाकर उन्होंने लिखा, महेश भट्ट ने बनाई थी- “सड़क”, मोदी जी ने बनाई- “धंसी सड़क”, बुंदेलखंड और पूर्वांचल में भारी सफलता के बाद बाक़ी सड़कों में धंसने की होड़ लगी। कांग्रेस ने ट्वीट कर सरकार पर हमला बोला था

सुल्तानपुर (आरएनएस)

हाल-फिलहाल ही बना ’पूर्वांचल एक्सप्रेस वे’ अभी दो बरसात भी नहीं देख पाया कि टूटकर धंस गया। हलियापुर थाना क्षेत्र के पास इस पर लगभग 15 फुट गहरा गड्ढा हो गया है, जिस कारण कई वाहनों के क्षतिग्रस्त होने की भी सूचना मिल रही है। सरकार के भ्रष्टाचार का इससे बड़ा साक्ष्य क्या होगा?
यूपीडा के बचाव में उतरे डीएम
डीएम सुल्तानपुर रवीश गुप्ता ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर एडवांस ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम लगाने का काम कराया जा रहा है। इसके लिए ऑप्टिकल फाइबर केबिल डालने के लिए ड्रिलिंग की गई थी, इस ड्रिलिंग से एक छेद हो गया था, जिससे भारी बारिश के कारण जल भराव हो गया। सूचना मिलते ही मौके पर यूपीडा की तकनीकी टीम द्वारा सड़क पर बने गढ्ढे की मरम्मत कर दी गई। अब एक्सप्रेस-वे के दोनों तरफ यातायात को सुचारु रूप से चालू कर दिया गया है।
मई व सितंबर 2021 में भी बैठी थी सड़क
वैसे पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर हलियापुर में सड़क धंसने का ये पहला केस नहीं है। 16 नवंबर 2021 को पीएम मोदी के कर कमलों द्वारा इसका लोकार्पण हुआ। इससे पहले 26 मई 2021 को कुवांसी और हलियापुर के बीच एक्सप्रेस वे की बीम दरक गई थी। इसके अलावा अंडर पास की रेलिंग और फुटपाथ की मिट्टी भी बह गई है। इस बारिश के चलते निर्माणाधीन हाइवे पर कई मीटर सड़क भी बह गई थी। दूसरी बार 18 सितंबर 2021 बारिश के चलते हलियापुर थाना क्षेत्र के जरईकला गांव के पास बने ब्रिज से सटकर बना एक्सप्रेस-वे का उतार मार्ग दो जगह बैठ गया थी। कई स्थानों पर जगह-जगह सड़कें भी बैठ गई थी। इससे ठीक एक दिन पहले आजमगढ़ जिले में बीते 72 घंटे के भीतर 370 डड बारिश हुई थी, इससे एक्सप्रेस-वे में जिला मुख्यालय से 4 किमी दूर उकरौड़ा में जगह-जगह दरारें पड़ गई थी।
जमीन विनिमय के नाम पर हुआ था भ्रष्टाचार
पूर्वांचल एक्सप्रेस वे निर्माण में एक नहीं भ्रष्टाचार के कई तरह के आरोप हैं। हलियापुर थाना क्षेत्र के जरईकला गांव निवासी जीतराज सिंह का आरोप है कि गांव के कुलदीप सिंह ने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे में उसकी जमीन विनिमय कराने की सलाह देते उसे सुल्तानपुर कलेक्ट्रेट लेकर पहुंचा। यहां पर उसने बल्दीराय के पूरे रिसाल मिश्र निवासी रवींद्र नाथ मिश्रा से मुलाकात कराई। 5 बीघा खेत के विनिमय का सौदा 15 लाख रुपए में तय हुआ। जीतराज के मुताबिक रवींद्र ने कहा कि एडीएम से हमारे संबंध अच्छे हैं मैं करा दूंगा। इसके बाद 9 अगस्त को 2 लाख नगद व 3 लाख रुपए ननका पत्नी ओंकार निवासी पूरे अलप सिंह थाना जामो अमेठी के एकाउंट पर आरटरजीएस कराया गया। 28 अगस्त को ननका के ही खाते पर जालसाजों ने 4 लाख 50 हजार रुपए नेफट के जरिए लिया। इसके अलावा नगद रकम भी जीतराज से ली गई। हाल ही में एडीएम का ट्रांसफर सुल्तानपुर से बांदा हो गया लेकिन जमीन का विनिमय नहीं हुआ। इस मामले में एसपी सोमेन वर्मा ने पीड़ित को कार्रवाई के लिए आश्वस्त किया है। बता दें कि बीते अगस्त माह के शुरुआत में ही बांदा जिले में तैनात अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व उमाकांत त्रिपाठी की तरफ से मुकदमा बांदा के स्थानीय थाने में पंजीकृत कराया गया था। घटनास्थल के आधार पर यह विवेचना सुलतानपुर ट्रांसफर होकर आई है। गौरतलब रहे कि एडीएम उमाकांत त्रिपाठी सुलतानपुर में लंबे समय तक तैनात रहे और जालसाज भी सुलतानपुर जिले का रहने वाला है। जिसकी पहचान रवींद्र नाथ मिश्र पुत्र शत्रुघ्न मिश्रा निवासी पुरे रिसाल मेरे डीह थाना क्षेत्र बल्दीराय के रूप में हुई है।

Tags : #SultanpurNews #PurvanchalExressway #DamageRoad #Hindinews #latestnews #DreamProject

राष्ट्रीय न्यूज़ 

Related Articles

Back to top button