पाकिस्तानी खिलाडी मोहम्मद हफीज ने इंटरनेशनल क्रिकेट से लिया संन्यास, भारत के खिलाफ आखिरी मैच खेलने का अरमान हुआ पूरा

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के दिग्गज आलराउंडर मोहम्मद हफीज ने इंटरनेशन क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी है। अपनी गेंदबाजी एक्शन की वजह से विवादों में फंसे इस खिलाड़ी ने टी20 विश्व कप के बाद संन्यास लेने की बात कही थी। पाकिस्तान की टीम में उनको जगह दी गई थी और सेमीफाइनल मुकाबला उनके करियर का आखिरी टी20 मैच बना। पाकिस्तान की टीम को आस्ट्रेलिया ने हराकर टूर्नामेंट से बाहर किया था।

भारत और पाकिस्तान के बीच खेले गए आईसीसी टी20 विश्व कप 2021 में वह प्लेइंग इलेवन का हिस्सा थे। उस मैच में पाकिस्तान ने 10 विकेट से जीत हासिल की थी इसलिए उनको बल्लेबाजी का मौका नहीं मिल पाया लेकिन 2 ओवर की गेंदबाजी में उन्होंने 12 रन दिए थे। वह कोई विकेट हासिल नहीं कर पाए लेकिन गेंदबाजी किफायती की थी।

साल 2003 में बांगलादेश के खिलाफ हफीज ने अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी और न्यूजीलैंड के खिलाफ 2018 में आखिरी बार इस फार्मेट में खेलने उतरे। 2003 में ही जिम्बाब्वे के खिलाफ हफीज ने वनडे डेब्यू किया था और बांग्लादेश के खिलाफ 2019 में अफना आखिरी मैच खेला। 2006 में इंग्लैंड के खिलाफ पहला टी20 मुकाबला खेलने वाले इस पाकिस्तानी आल राउंडर ने 2021 विश्व कप सेमीफाइनल में आस्ट्रेलिया के खिलाफ करियर का आखिरी टी20 मुकाबला खेला।

पाकिस्तान की तरफ से हफीज ने 218 वनडे, 119 टी20 और कुल 55 टेस्ट मैच खेले। उन्होंने वनडे में 6614 रन बनाए जिसमें 11 शतक और 38 अर्धशतक शामिल रहे। इसके अलावा उनके नाम कुल 139 वनडे विकेट भी हैं। टी20 में 2514 रन बनाने वाले हफीज ने 14 अर्धशतक जमाए और कुल 61 विकेट भी चटकाए। टेस्ट में उनके नाम 10 शतक और 12 अर्धशतक के सात कुल 3652 रन हैं। इस फार्मेट में हफीज ने कुल 53 विकेट भी हासिल किए।  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

sixteen + eleven =

Back to top button