गणतंत्र दिवस पर खास दिख रही है लखनऊ की परेड, विधानसभा मार्ग पर मार्च कर रहे हैं झुग्गी बस्ती के ये बच्चे

लखनऊ। राजधानी लखनऊ में इस बार गणतंत्र दिवस बेहद खास होने वाला है। आज होने वाली परेड में लखनऊ के लगभग 45 बच्चे भिखारी के जीवन को छोङकर गणतंत्र दिवस के दल के हिस्से के रूप में विधानसभा मार्ग पर मार्च करेंगे।

एनजीओ उम्मीद के संस्थापक और सचिव बलबीर सिंह ने कहा कि परेड में शामिल होने वाले बच्चे भीख मांगकर निकले हैं। हम पिछले आठ से 12 महीनों से उनके साथ लगे हुए थे। मूल रूप से, हमने आत्म-सम्मान और आत्म-प्रतिष्ठा की भावना जगाने का काम किया। इन बच्चों को एक्सपोजर दिया गया। उन्हें राजभवन ले जाया गया और उन्होंने लोगों से बातचीत भी की।

लखनऊ के नगर आयुक्त इंद्रजीत सिंह ने बताया, ”परेड में शामिल होने वाले ये बच्चे पहले भीख मांगते थे और पहली बार गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होने जा रहे हैं। बच्चे बेहद उत्साहित हैं। यह एक नई बात है। यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने खुद (हाल ही में) इन बच्चों से बात की थी।’ केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय ने ‘SMILE – आजीविका और उद्यम के लिए उपेक्षित व्यक्तियों के लिए सहायता’ नाम से एक राष्ट्रीय स्तर की योजना तैयार की है। इसमें दो उप-योजनाएँ शामिल हैं – ‘ट्रांसजेंडर व्यक्तियों के कल्याण के लिए व्यापक पुनर्वास’ और ‘भिक्षावृत्ति के कार्य में लगे व्यक्तियों का व्यापक पुनर्वास’।

इस अंब्रेला योजना में ट्रांसजेंडर व्यक्तियों और भीख मांगने वाले व्यक्तियों दोनों के लिए कल्याणकारी उपायों सहित कई व्यापक उपाय शामिल होंगे। दल के सदस्य 16 वर्षीय आदित्य ने कहा कि वह पहली बार गणतंत्र दिवस परेड में भाग लेने को लेकर उत्साहित हैं। पुलिस में भर्ती होने की इच्छा रखने वाली प्रीति (14) ने कहा कि उसके माता-पिता खुश महसूस कर रहे हैं, क्योंकि वह वह कर रही है जिसके बारे में उन्होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था। 10 साल की किशना तिरंगे को ऊंचा पकड़े आत्मविश्वास से भरी दिख रही थी। वह अब सपना देख सकता था। उन्होंने कहा, ‘मैं डांसर बनना चाहता हूं। “मैं प्रभु देवा से प्रेरणा लेता हूं।” उसका दोस्त ऋतिक भी डांसर बनना चाहता है।

Tag: #nextindiatimes #nitlucknow #lucknow #republicday #parade #slum #children #indrajeetsingh

Related Articles

Back to top button