नार्थ कोरिया में कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच ‘बुखार’ से मौत में हुई बढ़ोतरी,अबतक 21 लोगों की हुई मौत

नार्थ कोरिया में कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच ‘बुखार’ से मौत दर्ज हो रही हैं। उत्तर कोरिया ने 21 नए लोगों की मौत के साथ अज्ञात बुखार के कुछ 17,400 नए मामले दर्ज किए हैं, राज्य द्वारा संचालित  KCNA  समाचार एजेंसी ने शनिवार को सूचना दी। KCNA के अनुसार, कुल मामलों की संख्या पहले ही 524,000 से अधिक हो चुकी है। नॉर्थ कोरिया की सरकार ने कहा है कि 2 ,80,810 लोगों को आइसोलेट कर उनका इलाज किया जा रहा है। यह साफ नहीं है कि कौन सा बुखार फैला है जिसकी वजह से मौतें हुईं।

अप्रैल के अंत से बुखार के तेजी से फैलने के बीच शुक्रवार से होने वाली मौतों और मामलों की कुल संख्या बढ़कर 21  मौतों और 5,24,440 बीमारियों तक पहुंच गई। उत्तर कोरिया ने कहा कि 2,43,630 लोग ठीक हो गए हैं और 2,80,810 लोग क्वारंटाइन में हैं। राज्य के मीडिया ने यह खुलासा नहीं किया कि कितने बुखार के मामलों और कितनी मौतों की पुष्टि COVID-19 संक्रमण के रूप में हुई।

उत्तर कोरिया में लागू है लॉकडाउन

उत्तर कोरिया में दो साल बाद कोरोना का पहला मामला सामने आया है। नए केस की पुष्टि के बाद किम जोंग उन ने देश में लॉकडाउन लगाने का ऐलान किया है। उन्होंने अपील की है कि कोरोना से बचाव के उपायों को और अधिक बढ़ाया जाए और इनका सख्ती से पालन किया जाए। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक लोगों को घरों के भीतर रहने को कहा गया है और अधिकारियों द्वारा राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लागू कर दिया गया है।

किम जोंग उन ने बुलाई रणनीति बैठक 

उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन ने शनिवार को एंटी-वायरस रणनीतियों पर एक बैठक के दौरान, बुखार के प्रकोप को ऐतिहासिक रूप से ‘भारी व्यवधान’ के रूप में वर्णित किया और सरकार और लोगों के बीच एकता के रूप में प्रकोप को जल्द से जल्द स्थिर करने का आह्वान किया।

विशेषज्ञों ने दी चेतावनी 

विशेषज्ञों का कहना है कि देश की खराब स्वास्थ्य प्रणाली को देखते हुए उत्तर कोरिया में COVID-19 के प्रसार को नियंत्रित करने में विफलता के विनाशकारी परिणाम हो सकते हैं और इसके 26 मिलियन (2.6 करोड़) लोग बड़े पैमाने पर प्रभावित हो सकते हैं।

राज्य के मीडिया ने कहा कि देश की राजधानी प्योंगयांग में बुखार से पीड़ित लोगों की अबतक सटीक संख्या का पता नहीं चला है, लेकिन रविवार को एकत्र किए गए वायरस के नमूनों के परीक्षण ने पुष्टि की कि वे ओमाइक्रोन संस्करण से संक्रमित थे। देश ने अब तक आधिकारिक तौर पर ओमाइक्रोन संक्रमण से जुड़ी एक मौत की पुष्टि की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

nineteen − 2 =

Back to top button