नोडल अधिकारी ने दीपोत्सव को लेकर पदाधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा-निर्देश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रांतीय दिव्य दीपोत्सव को लेकर अवध विश्वविद्यालय के वालंटियर्स ने शनिवार को राम की पैड़ी पर दीए बिछाने के कार्य को अंतिम रूप दे दिया है। कुलपति प्रो0 अखिलेश कुमार सिंह के दिशा-निर्देशन में दीपोत्सव नोडल अधिकारी प्रो0 अजय प्रताप सिंह के कुशल नेतृत्व में 22 हजार वालंटियर्स द्वारा दीए बिछाने का कार्य पूर्ण किया। दीपोत्सव को भव्य एवं एतिहासिक बनाने के लिए विश्वविद्यालय ने 37 घाटों पर 200 से अधिक समन्वयक, गु्रप लीडर व प्रभारी नियुक्त किए है।

अयोध्या (आरएनएस)

दीपोत्सव के दिन 22 हजार वालंटियर्स के सहयोग से 17 लाख दीप प्रज्ज्वलित होंगे। सुबह 10 बजे विश्वविद्यालय, सम्बद्ध महाविद्यालयों व स्वयंसेवी संस्थाओं के लगभग 22 हजार वालंटियर्स घाटों पर तैनात रहे। दीए की गणना घाट समन्वयकों की निगरानी में शुरू कराई गई। इसके उपरांत विश्वविद्यालय के गणना समिति के सदस्यों द्वारा बारी बारी से घाटों के दीयों की गणना की गई है। वहीं अपराह्न तीन बजे गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड टीम के सदस्यों द्वारा कैमरें से हर घाटों के दीयों की गणना प्रारम्भ की गई। जो रात तक पूर्ण हो जायेगी। दीपोत्सव भव्य बनाने के लिए 16-16 दीए का ब्लाक बनाया गया है। जिसमें 256 दीए लगाये गये है। दूसरी ओर घाट संख्या दस पर रामायणकालीन प्रसंग को उकेरा गया है इसमें भी दीए बिछाये गये है। एक वालंटियर को 85 से 90 दीए जलाने का लक्ष्य दिया गया है।
दीपोत्सव नोडल अधिकारी प्रो0 अजय प्रताप सिंह ने बताया कि 23 अक्टूबर को दीपोत्सव के दिन प्रातः 09 बजे से वालंटियर्स द्वारा 37 घाटों पर बिछाये गये 17 लाख दीए में तेल डालने के साथ बाती लगाकर देर शाम शासन द्वारा नियत समय पर प्रज्जवलित किया जायेगा। सभी घाटों पर दीए लगाने का कार्य पूर्ण हो चुका है। वालंटियर्स में दीपोत्सव को लेकर उत्साह देखते ही बन रहा है। सभी पदाधिकारी के नेतृत्व में अंतिम रूप दिया जा रहा है। घाटों पर वालंटियर्स को समय समय पर आवश्यक दिशा-निर्देश लाउउस्पीकर के माध्यम से दिया जा रहा है। इनके लिए जलपान व भोजन की व्यवस्था की गई है। समिति के समन्वयक डॉ0 राना रोहित सिंह की निगरानी में वालंटियर्स को भोजन कराया जा रहा है। इसके अलावा पुलिस प्रशासन द्वारा घाटों की निगरानी की जा रही है। घाटों पर दीपोत्सव पहचान-पत्र के बिना प्रवेश नही दिया जा रहा है। दूसरी ओर उप-नोडल अधिकारी डॉ0 संग्राम सिंह द्वारा सभी घाटों पर बराबर निरीक्षण किया गया। उनके द्वारा घाट समन्वयकों का उत्साहवर्धन किया गया। इसके अलावा राम की पैड़ी के 37 घाटों पर घाट समन्वयक सहित दीपोत्सव पदाधिकारी तैनात रहे। दीपोत्सव स्थल पर प्रो0 आरके तिवारी, प्रो0 एसएन शुक्ल, प्रो0 जसवंत सिंह, प्रो0 नीलम पाठक, प्रो0के0के0 वर्मा, प्रो0 हिमांशु शेखर सिंह, प्रो0 फारूख जमाल, प्रो0 सिद्धार्थ शुक्ला, डॉ0 राना रोहित सिंह, पूर्व कार्यपरिषद सदस्य ओम प्रकाश सिंह, डॉ0 अभिषेक सिंह सहित बड़ी संख्या में विश्वविद्यालय के शिक्षक एवं कर्मचारी तैनात रहे।

Tags : #Religion #Ayodhya #Diwali2022 #NodelOfficer #Deepotsav #Instruction #Hindinews #AjayPratapSingh

Rashtriya News

Related Articles

Back to top button